News Description
करवा चौथ के नजदीक आते ही गुलजार हुआ बाजार

करवा चौथ पर्व के नजदीक आते ही जिले के बाजार गुलजार होने लगे हैं। सबसे ज्यादा महिलाओं से जुड़े सामान की दुकानों पर भीड़ लगने लगी है, इनमें जनरल स्टोर मुख्य हैं, जिन पर सौंदर्य प्रसाधनों की महक व चूड़ियों की खनक खास तौर पर सुनी जा सकती है।

त्यौहारी मौसम में सुहाग की निशानी में से एक रंग-बिरंगी चूड़ियों की मांग काफी बढ़ जाती है। ग्रामीण बाहुल्य जिला पलवल, होडल व हथीन में गांवों व शहरी इलाकों में चूड़ियों की रिटेल की करीब 200 दुकानें हैं। मुख्य बाजार में कई बड़ी दुकानें तो ऐसी हैं, जिन पर एक सीजन में ही 50 से 80 लाख रुपये तक की चूड़ियों की बिक्री हो जाती है। एक महिला करवा चौथ पर 250 से लेकर 500-700 रुपये तक सिर्फ चूड़ियों पर ही खर्च कर देती है। अनुमान के मुताबिक करीब दो से ढाई करोड़ रुपये का चूड़ियों का व्यापार होता है। इसके अलावा ¨बदी, लिपिस्टिक, ¨सदूर, ब्यूटी क्रीम, फेस वाश अन्य सौंदर्य प्रसाधनों की भी बिक्री कई करोड़ में होती है।