News Description
शाही ताज में सजेगा परिवार सहित रावण का पुतला

भले ही महंगाई के चलते लोगों ने अपने खर्चों को कम कर दिया हो, लेकिन रावण के ठाठ-बाठ में उसके राजकाल में कमी आई थी व न ही उसके पुतलें कहीं कमतर होने को तैयार हैं। दशहरा कमेटी ने अबकी बार रावण, कुंभकरण व मेगनाद के पुतलों पर पिछले वर्ष की तुलना में करीब 20 फीसदी बढौतरी की है।

नेता जी सुभाष चंद स्टेडियम स्थित दशहरा मैदान में 25 दिन से जुटे 20 कारीगर लंकेश व उसके बंधु-बांधवों के पुतलों को बनाने में जुटे हुए हैं। पलवल का दशहरा समीप के जिलों में अपनी अलग महता रखता है। यहां की दशहरा कमेटी के कार्यक्रम को देखने के लिए पलवल ही नहीं बल्कि आस-पास के जिलों के लोग भी हिस्सा लेते हैं।

दशहरा कमेटी द्वारा दो दिवसीय भव्य भजन संध्या का भी आयोजन किया जाएगा। 28 सितंबर को साध्वी पूर्णिमा भजनों की ज्ञान गंगा बहाएंगी। 29 सितंबर को भजन सम्राट विनोद अग्रवाल का कार्यक्रम होगा। 30 सितंबर को सनातन धर्म मंदिर से भव्य झांकियां निकाली जाएंगी, जो कि दशहरा मैदान में संपन्न होंगी तथा भगवान राम के स्वरूप कलाकार रावण के पुतले का दहन करेंगे।