News Description
स्वयं का निर्माण किए बिना समाज का उत्थान असंभव : धर्मवीर

सफीदों रोड आर्य समाज में रविवार को साप्ताहिक यज्ञ सत्संग का आयोजन किया गया। इस दौरान मुख्य वक्ता धर्मवीर आर्य ने बताया कि व्यक्ति को जीवन में सफल होने के लिए अपने वचन पर अडिग रहना चाहिए। जिस व्यक्ति की कथनी करनी में अंतर नहीं होता वह व्यक्ति जीवन के हर क्षेत्र में प्रगति को प्राप्त होता है। 

जो लोग कथनी और करनी में अंतर रखते हैं वह स्वयं का निर्माण नहीं कर सकते। एेसे लोगों पर समाज का विश्वास भी नहीं होता। यही अविश्वास व्यक्ति को जीवन के हर क्षेत्र में पीछे की ओर ले जाने का काम करता है, जबकि इतिहास गवाह रहा है जो लोग अपने वचन के पक्के रहे हैं उन्होंने केवल स्वयं का उत्थान किया बल्कि समाज के लिए भी ऐसे लोगों ने बहुत से काम किए समाज के लिए उदाहरण बने। आज भी यह महापुरुष केवल भारत देश में पूजनीय हैं बल्कि संसार के कई हिस्सों में हमारे इन महापुरुषों की पूजा होती है। इस अवसर पर कश्मीरी लाल गौतम, कुलदीप आर्य, हर्षित मोर, हरिकेश नैन, सुनील बड़गुज्जर , साहिल, प्रवीण शर्मा, तेजस पोलिस्त, सावित्री देवी, सोम किरण आर्य, कविता शर्मा, मोनिका आर्य मनीष आर्य मौजूद रहे