News Description
हनीप्रीत के नेपाल भाग जाने का दावा, पूर्व डीजीपी ने उठाए हरियाणा पुलिस पर सवाल

चंडीगढ़। हरियाणा सरकार ने जिस तरह से डेरा सच्चा सौदा में सर्च आपरेशन चलाने की रस्म निभाई है, ठीक उसी तर्ज पर राज्य पुलिस ने भी हनीप्रीत को भागने का बार-बार मौका देकर उसके प्रति दरियादिली दिखाई है। उदयपुर से गिरफ्तार डेरा प्रमुख के सहयोगी प्रदीप गोयल की प्रारंभिक पूछताछ में हनीप्रीत के नेपाल भागने का खुलासा हुआ है, लेकिन पुलिस अभी भी इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं है।

डेरा प्रमुख के पूर्व ड्राइवर खïट्टा सिंह ने हनीप्रीत के उत्तराखंड, हिमाचल, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के चर्चा नामघरों में कहीं छिपे होने की आशंका जाहिर की है। उत्तर प्रदेश के एक पूर्व डीजीपी का तो यहां तक कहना है कि हरियाणा पुलिस को हनीप्रीत के बारे में सब कुछ मालूम है। उन्होंने सवाल खड़ा किया कि यदि पुलिस चाहे तो एक हनीप्रीत नहीं बल्कि उसकी जैसी सौ हनीप्रीत को 24 घंटे के अंदर ढूंढकर बाहर निकाल लाए।

हनीप्रीत के नेपाल भागने की आशंका पहले दिन से जताई जा रही है। इसके बावजूद भी यदि हनीप्रीत वास्तव में नेपाल भागने में कामयाब हो गई तो यह हरियाणा पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। राज्य पुलिस का मानना है कि हनीप्रीत अभी नेपाल नहीं भागी, लेकिन बिहार और उत्तर प्रदेश के रास्ते नेपाल भाग सकती है। 

हरियाणा पुलिस ने अपनी आशंका की बाबत बिहार व उत्तर प्रदेश राज्यों की पुलिस को अवगत करा दिया है। बिहार पुलिस ने अपने राज्य के नेपाल से सटे सात जिलों में विशेष सतर्कता बढ़ा दी है। पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, मधुबनी, सुपौल, सीतामढ़ी, अररिया और किशनगंज पुलिस भी हरियाणा पुलिस के साथ हनीप्रीत को ढूंढने के काम में जुट गई है।