# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
दो की बजाए मरीजों को चार बजे रिपोर्ट, एसएलटी से उलझे

जिलाअस्पतालकी लैब में हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे। कर्मचारी अतिरिक्त समय लगाने के बाद भी मरीजों को संतुष्ट नहीं करा पा रहे। कर्मचारियों की कमी का खामियाजा मरीजों और स्टाफ को भुगतना पड़ रहा है। 

नौबत यहां तक गई है कि जांच रिपोर्ट में देरी होने के चलते मरीज कर्मचारियों के साथ उलझने लगे हैं। मंगलवार को खून की जांच रिपोर्ट को लेकर मरीज लैब के सीनियर एसएलटी कृष्ण कुमार के साथ उलझ पड़े। यह पहली बार नहीं हुआ है। ऐसा अक्सर देखने को मिल रहा है। 

वहीं अस्पताल प्रशासन व्यवस्था बनाए जाने के महज दावों तक ही सिमट कर रह गया है। मंगलवार को जिला अस्पताल की लैब में तीन एलटी डयूटी पर थे। जिसके चलते लैब में अव्यवस्था का आलम रहा। एक एलटी ने पहले मरीजों की पर्ची बनाई उसके बाद मरीजों के सैंपल लिए। जिसके चलते मरीजों को घंटों लाइन में लगना पड़ा। इतना ही नहीं एक लाइन में पर्ची कटवाने के बाद मरीजों को दो से तीन घंटे सैंपल के लिए खड़ा होना पड़ा। 

कर्मचारीदे रहे अतिरिक्त ड्यूटी : कर्मचारीलैब में अतिरिक्त समय लगाकर लैब की स्थिति को सुधारने में लगे हैं, लेकिन मरीजों की बढ़ रही संख्या के आगे लैब कर्मचारी असहाय हैं। अतिरिक्त समय लगाए जाने के बाद भी अस्पताल में स्थिति सुधरने का नाम नहीं ले रही। दो बजे ड्यूटी खत्म होने के बाद भी कर्मचारी लैब में साढ़े चार बजे तक अपनी सेवा दे रहे हैं। 

मरीजोंको चार बजे मिली जांच रिपोर्ट : मरीजोंको दोपहर बाद चार बजे खून की जांच संबंधी रिपोर्ट मिली। मरीजों को चार से पांच घंटे तक खून संबंधी जांच रिपोर्ट का इंतजार करना पड़ा। मरीज सरोज, देशराज, प्रदीप, मधु ने कहा कि उन्होंने सुबह साढ़े ग्यारह बजे जांच के लिए सैंपल दिया था, लेकिन चार बजे तक जांच रिपोर्ट नहीं मिली। मरीजों ने कहा कि एक पूरा दिन खून की जांच में निकल गया अब बुधवार को उन्हें दोबारा दवा के लिए आना पड़ेगा। 

मरीजोंको नहीं होने देंगे परेशान : एमएसडॉ. मुकेश ने कहा कि मरीजों को परेशानी नहीं आने दी जाएगी। मंगलवार को एलटी के अवकाश पर जाने की वजह से ऐसा हुआ। उन्होंने कहा कि लैब में कर्मचारियों की कमी को लेकर स्वास्थ्य विभाग उच्च अधिकारियों को लिखा जा चुका है