News Description
टीचर के गाली देने पर छात्रों ने छोड़ी क्लास, प्राचार्य को दी शिकायत

दुजानागांव के राजकीय सीनियर सेकंडरी स्कूल में मंगलवार को उस समय हंगामा हो गया जब कक्षा 10वीं के सभी छात्रों ने अपनी कक्षा में पढ़ाई छोड़ बात-बात पर गाली देने वाले एक शिक्षक के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। दुखी बच्चों का साथ स्कूल अभिभावक कमेटी ने भी दिया। सरपंच भी मौके पर आए। तब चारों ओर से घिरे आरोपी टीचर ने लिखित रूप में माफी मांगी, तब बच्चों ने अपने गुरुजी को माफ कर कक्षाओं में लौटे। 

दसवीं कक्षा के बच्चे की शैतानी पर एक टीचर काफी खफा हुआ और उसने छात्र को अश्लील गालियां दे डाली। ये छात्र पहले भी गालियां झेल चुका था। साथ ही कई और बच्चे भी टीचर की गाली देने से दुखी थे। लिहाजा कुछ छात्र कक्षा छोड़कर सीधे सरपंच जसवीर अहलावत के पास चले गए। और टीचर की शिकायत की। बच्चों ने आरोप लगाए कि टीचर छात्राओं के साथ भी अपशब्द बोलता है। यह सुनकर एसएमसी कमेटी के लोग भी छात्रों के समर्थन में गए। फिर दसवीं के सभी छात्रों ने स्कूल प्रिंसिपल अजय कौशिक को ज्ञापन देकर टीचर को हटाने की मांग की। प्रिंसिपल ने जब समूचा मामला समझा और आरोपी टीचर को बुलाया। तब चारों ओर से घिरे टीचर ने अपना अपराध कबूला कि उसने बच्चे को गालियां दी, लेकिन इस बात से इंकार कर दिया कि वे उन्होंने लड़कियों से गलत बोला। इस बात को लेकर काफी देर तक बहसबाजी हुई, तब टीचर ने लिखित रूप में माफी मांगी कि वो भविष्य में बच्चों के साथ अशब्द नहीं बोलेगा। इसके बाद बच्चों ने भी अपने टीचर को माफ कर दिया। 

ग्रामपंचायत ने बनाई निगरानी कमेटी 

दुजानापंचायत ने सभी सरकारी स्कूलों में एक निगरानी कमेटी का गठन करने की बात कही है, जो स्कूल के बच्चों के व्यवहार और टीचर के क्रियाकलापों पर नजर रखेगी। 

^एक बच्चे ने स्कूल के टीचर के खिलाफ अपशब्द बोलने का आरोप लगाया था। बाद में कई अन्य बच्चों ने भी टीचर की शिकायत की। बाद में इस मामले में आरोपी टीचर ने माफी मांग ली। इसके बाद बच्चे कक्षाओं में गए। ऐसे मामले सामने आने के बाद हम स्कूल में निगरानी कमेटी का गठन कर रहे हैं। जसवीरअहलावत, सरपंच दुजाना