News Description
ग्रामीण क्षेत्र खुले में शौच से मुक्त होने वाला हरियाणा पहला राज्य : सुभाष चंद्र

जींद : स्वच्छ भारत मिशन हरियाणा के उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र ने कहा कि प्रदेश का ग्रामीण क्षेत्र खुले में शौच की कुप्रथा से मुक्त हो चुका है। 25 सितंबर तक शहरी क्षेत्रों को भी ओडीएफ कर लिया जाएगा। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री से 15 सितंबर तक ही इस लक्ष्य को पूरा करने का वायदा किया है।

सुभाष चंद्र ने सोमवार को एडीसी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि गत दिनों पेयजल मंत्रालय द्वारा एक सर्वे किया गया था, जिसमें पाया गया कि हरियाणा प्रदेश का ग्रामीण क्षेत्र खुले में शौच की कुप्रथा से मुक्त हो चुका है। हरियाणा देश का पहला ऐसा राज्य है। अब प्रदेश की शहरी क्षेत्र को भी इस कुप्रथा से मुक्त करवाने के लिए अभियान तेजी से चल रहा है। प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिए हर व्यक्ति को स्वच्छता आदत के रूप में अपनानी होगी, तभी यह स्वच्छता अभियान एक जन आदोलन का रूप धारण कर सकेगा और हम अपने उद्देश्य में सफल हो पाएंगे। पूर्व की सरकारें अगर प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिए थोड़ा सा भी प्रयास करते तो इस क्षेत्र में प्रदेश के यह दशा नहीं होती।

देश व प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने स्वच्छता को एक अहम मुद्दे के रूप में लिया। प्रदेश में ठोस कूड़ा, कर्कट प्रबंधन को लेकर 11 कचरा प्रबंधन स्थापित किये जाएंगे, जिनमें से एक केन्द्र जींद जिले में भी बनाया जाएगा। इस अवसर पर एडीसी धीरेंद्र खडगटा, नगर परिषद की चेयरपर्सन पूनम सैनी समेत कई विभागों के अधिकारी मौजूद थे।