News Description
प्रशासन को याद आए निजी विद्यालयों में सुरक्षा उपाय

पलवल : प्रशासन को हमेशा किसी बड़े हादसे का इंतजार रहता है। प्रशासन तभी हरकत में आता है, जब यह हादसा कहीं न कहीं हो जाता है। गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात वर्षीय प्रद्युम्न की नृशंस हत्या के बाद जिला प्रशासन भी सक्रिय हो गया है।

इससे पहले प्रशासन को न तो स्कूलों में सुरक्षा उपाय नीति को लागू कराने की ¨चता थी न ही उसके शिक्षा विभाग को। इसी तरह स्कूल वाहन नीति के बारे में भी प्रशासन गंभीर नहीं है। शिक्षा विभाग को तो यह भी मालूम नहीं है कि कितने असुरक्षित वाहनों को बंद कराया गया है तथा कितनों का चालान किया गया है। हां यदि किसी सरकार द्वारा प्रायोजित किसी रैली के लिए बसें जुटाने की बात आ जाए तो प्रशासनिक अमला इस कार्य में नंबर बनाने में जुट जाता है। रेयान स्कूल हत्याकांड के बाद हरकत में आए प्रशासन ने इस बारे में सोमवार को निजी विद्यालयों में सुरक्षा उपाय नीति के संदर्भ में एसपीएस इंटरनेशनल स्कूल में निजी शिक्षण संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक का आयोजन किया। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त मनीराम शर्मा ने की।

उपायुक्त शर्मा ने सख्त लहजे में कहा कि स्कूल की सुरक्षा के संचालन संबंधी प्रदेश सरकार ने जो अधिसूचना जारी की हुई है, उसकी पालना सुनिश्चित करें अन्यथा नियमानुसार कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।