# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
मरीजों के लिए आफत बनी डॉक्टरों की हड़ताल

 पंचकूला : जिले के सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर्स ने सोमवार को दो घटे के लिए पेन डाउन स्ट्राइक की। इस दौरान सेक्टर-6 के जनरल अस्पताल में भी सुबह 8 से 10 बजे तक इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर सभी सुविधाएं बद रखी गई। जिसके चलते रजिस्ट्रेशन काउंटर से लेकर डॉक्टर्स की ओपीडी के बाहर मरीजों की लाइनें लगी रही।

इस दौरान पंचकूला की सीएचसी और पीएचसी में भी डॉक्टरों ने अपनी हड़ताल जारी रखी। हड़ताल के दौरान जनरल अस्पताल में दो घटे तक न तो ओपीडी वर्किग की गई और ना ही मरीजों को रजिस्ट्रेशन काउंटर पर आने दिया गया। सिक्योरिटी गा‌र्ड्स मरीजों को यही कहते रहे कि अभी डॉक्टर्स हड़ताल पर हैं, कार्ड नहीं बनेंगे। कई बार यहां हाथापाई देखने को मिली। हड़ताल 10 बजे खत्म हुई जिसके बाद ही मरीजों के रजिस्ट्रेशन काउंटर पर कार्ड बनाने शुरू किए गए।

जैसे ही हड़ताल खत्म हुई तो डॉक्टर्स की ओपीडी में मरीजों की लाइनें लग गई। इसके बाद ब्लड सैंपल देने के लिए भी लैब में मरीजों की लाइनें दिखीं। मॉर्निग शिफ्ट के मरीजों को ईवनिंग शिफ्ट में इलाज करवाने को भी मजबूर होना पड़ा। सोमवार को हरियाणा सिविल मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन की ओर से हड़ताल का आह्वान किया गया था।