News Description
एस्मा के बावजूद दो घंटे की सांकेतिक हड़ताल पर रहे डॉक्टर, मरीज परेशान

हरियाणा के डॉक्टरों की हड़ताल को रोकने के लिए सरकार द्वारा लगाया गया एस्मा कानून भी बेअसर रहा। एस्मा को नजर अंदाज करते हुए राज्य के सभी मेडिकल कॉलेजों व अस्पतालों में सरकारी डॉक्टरों ने सुबह दो घंटे सांकेतिक हड़ताल की। 8 से 10 बजे तक डॉक्टरों ने ओपीडी पूरी तरह से ठप रखी। हालांकि डॉक्टरों ने इमरजेंसी सेवाओं को बाधित नहीं होने दिया। आपातकालीन सेवाओं में डॉक्टर रुटीन में काम करते रहे।

इस बीच, डॉक्टरों की हड़ताल को देखते हुए सरकार ने मंगलवार को उन्हें वार्ता के लिए बुला लिया है। हरियाणा मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन (एचएमएसए) के पदाधिकारियों का शिष्टमंडल मंगलवार को 12 बजे स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अमित झा के साथ बैठक करेगा। इस बैठक में अगर डॉक्टरों की मांगों पर सहमति नहीं बनती तो बुधवार से डॉक्टरों की हड़ताल फिर शुरू होगी। 2011 के बाद यह पहला मौका है जब राज्य के डॉक्टरों ने हड़ताल करने का कदम उठाया है।