News Description
मलिक पैसे हड़पने की करता रहा साजिश : ढुल

यशपाल मलिक विरोधी गुट के जाट आरक्षण संघर्ष समिति जींद के पदाधिकारियों, खाप, तपों की मीटिंग रविवार को जाट धर्मशाला में हुई। इसकी अध्यक्षता नगूरां तपा के प्रधान धर्मपाल नगूरां ने की। संघर्ष समिति जींद के प्रधान वीरभान ढुल आरक्षण के लिए संघर्ष बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि 13 सितंबर को आरक्षण संघर्ष में मारे गए तीन लोगों की याद में पूर्व की तरह मय्यड़ गांव के स्टेडियम में शहीदी दिवस मनाया जाएगा और इस मौके पर तीनों की मूर्ति स्थापना भी की जाएगी। 

वीरभान ढुल ने बताया कि यशपाल मलिक प्रदेश में जाट समाज को आरक्षण दिलवाने में असफल रहा है और भाजपा से मिलकर जाट समाज के साथ विश्वासघात किया है। पिछले 19 मार्च को किया गया समझौता एक धोखा सिद्ध हुआ और इसकी शर्तों को लागू करवाने के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया तथा केवल चंदे के पैसों को हड़पने की साजिश की गई। इसी कड़ी में जींद जिले के धरने पर एकत्र हुए पैसों में से बचे हुए लगभग 38 लाख की धनराशि के साथ यशपाल मलिक के कुछ चहेतों ने खिलवाड़ करके जाट समाज के साथ धोखा किया है। इनके खिलाफ प्रशासन द्वारा जांच की जा रही है। चेक बाउंस होने पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। मीटिंग में रैली को सफल करने संगठन को नया रूप देने पर भी विचार विमर्श गया। रैली के लिए कार्यकर्ताओं की ड्‌यूटियां लगाई गई। रैली में आरक्षण के लिए संघर्ष की रूपरेखा भी तय की जाएगी। इस अवसर पर किताब सिंह भनवाला, राजबीर रिढाल, प्रेम नगूरां, ईश्वर कंडेला, जसमत पेगां, राजपाल केहर सिंह, डॉ. दलबीर सिंह, कटार सिंह, राजसिंह गांगोली, महेंद्र जागलान, मास्टर प्यारेलाल देशवाल, जागेराम खर्ब, जयनारायण जिलेदार, राजकुमार, मास्टर रामकुमार, सतबीर कोच, बलराज ढाकल, राजेंद्र घोघड़िया, हवासिंह नेहरा, बदनसिंह, नफेसिंह, जयवीर मलिक, धर्मवीर दालमवाला, होशियार सिंह गिल, प्रो. बलवान मौजूद रहे