News Description
21 हजार परीक्षार्थियों ने दिया कंडेक्टर एग्जाम, यातायात ठप, जुझती रही ट्विन सिटी

परिवहन विभाग में परिचालकों की भर्ती के लिए हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन द्वारा आयोजित परीक्षा में जिलेभर में करीब 21 हजार 373 परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया। एक दिन में 21 हजार परीक्षार्थियों के एक साथ परीक्षा देने पहुंचने के कारण ट्विन सिटी में सुबह से लेकर शाम तक यातायात व्यवस्था ठप रही। लोग अपने गंतव्य पर जाने के लिए जाम में फंसे रहे और जिला यातायात पुलिस व्यवस्था बनाने में नाकाम रही। अंबाला शहर में पालीटेक्निक चौक से लेकर अग्रसेन चौक तक जाम की स्थिति बनी रही और यही हाल कालका चौक के रहे। इसके अतिरिक्त छावनी में भी बस अड्डे के बाहर ऐसा ही दृश्य देखने को मिला। सुबह के सत्र में जहां 10 हजार 676 परीक्षार्थियों ने पेपर दिया वहीं दोपहर बाद के सत्र में 10 हजार 697 परीक्षार्थियों ने पेपर दिया। दोनों सत्रों में 27 हजार 800 परीक्षार्थियों के बैठने की व्यवस्था की गई थी।

52 परीक्षा केंद्र बनाने के बावजूद नहीं संभली व्यवस्था

27 हजार 800 परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्र अंबाला जिले को बनाया गया है। सुबह और शाम के सत्रों में 13900- 13900 परीक्षार्थियों के बैठने की व्यवस्था के लिए 52 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे बावजूद इसके यातायात व्यवस्था संभाले नहीं संभली और जगह-जगह ट्विन सिटी में जाम लगता रहा। सुबह के सत्र में साढ़े नौ बजे तक और 12 बजे के बाद जाम की स्थिति बनी दोपहर को ढाई बजे तक और साढ़े चार से 5 बजे तक ऐसी ही स्थिति बनी रही।

खड़ी रही पुलिस, आटो चालक ढूंढ़ते रहे सवारियां

परीक्षा के चलते आटो चालकों ने हजारों ¨जदगियों को दाव पर रखकर खूब चांदी की। चालान काटने वाली यातायात पुलिस खड़ी होकर हर चौक व चौराहे पर यह दृश्य तो देख रही थी लेकिन किसी ने इन ऑटो चालकों को समझाने तक का प्रयास नहीं किया। मसलन एक-एक आटो में 12-12 सवारियों को लादकर आटो चालक नियमों को धत्ता लगाते रहे। केवल परिचालक परीक्षा ही नहीं बल्कि हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की हर परीक्षा के दौरान कुछ ऐसे ही हालत रहते हैं। जाम तो लगता ही है साथ ही साथ हजारों ¨जदगियों को भी दाव पर लगा दिया जाता है लेकिन कोई कार्रवाई करने वाला नहीं है। न ही जिला प्रशासन कोई ऐसी प्ला¨नग तैयार कर पाया है जिससे अंबाला की जनता को परीक्षा के दौरान लगने वाले जाम से निजात दिलाई जा सके