News Description
अतिथि अध्यापकों ने निकाली आक्रोश रैली

अतिथि अध्यापक संघ की जिला इकाई द्वारा बृहस्पतिवार को श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। सभा में 7 सितंबर 2008 को रोहतक के शीला चौक पर पुलिस की गोली लगने से राजरानी नामक अध्यापिका की मौत पर शोक प्रकट किया गया तथा राजरानी को श्रद्धांजलि दी गई। बाद में अतिथि अध्यापकों ने शहर में आक्रोश रैली भी निकाली।

सभा की अध्यक्षता करते हुए संघ के प्रधान प्रीतम ¨सह ने कहा कि 10 वर्षों से शिक्षा विभाग में सेवाएं दे रहे जेबीटी शिक्षकों को सरप्लस बताकर हटाना दुर्भाग्यपूर्ण है।उन्होंने कहा कि इतने वर्षों तक अतिथि अध्यापकों की बदौलत स्कूलों में शिक्षा का कार्य चलता रहा। वह भी ऐसी स्थिति में जब विभाग शिक्षकों की बेहद कमी थी। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि सरकार ने अतिथि अध्यापकों को हटाया तो तेज आंदोलन शुरू किया जाएगा।

इस मौके पर हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के जिलाध्यक्ष हरिचंद वर्मा तथा संघ के राज्य महासचिव नरेंदर सौरोत ने भी अतिथि अध्यापकों को नियमित करने की मांग की। शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।