News Description
बिजली गुल रहने से एक्स-रे रहे प्रभावित, जनरेटर की नहीं सुविधा

 बृहस्पतिवार सुबह नागरिक अस्पताल छावनी के अस्पताल को खुले अभी सवा घंटा ही हुआ था कि बुधवार की तरह एक बार फिर से एक्स-रे रूम की बत्ती गुल हो गई। सुबह सवा नौ बजे गई बत्ती करीब साढ़े 11 बजे तक गुल रही। ऐसे में रेडियालॉजिस्ट पर तो अतिरिक्त दबाव बढ़ ही गया था बल्कि लोग भी परेशान रहे। इस सारी समस्या की एक वजह यह भी थी कि अस्पताल में नए भवन तो जनरेटर के साथ जोड़े किए हुए हैं लेकिन पुराने भवन की लैब व एक्स-रे रूम अभी भी ढर्रे पर ही हैं। यहां इंवर्टर तो लगाए हुए हैं लेकिन ओपीडी बढ़ने के चलते इंवर्टर पर्याप्त नहीं है।

जानकारी के मुताबिक रोजाना एक्स-रे के लिए ही करीब 90 मरीज आते हैं लेकिन एक्स-रे रूम जनरेटर से अटैच नहीं होने से लोग दूसरे दिन भी परेशान रहे। वहीं, बुधवार को तो पूरे दिन ही बत्ती गुल रही थी। देखा जाए तो एक्स-रे के लिए मरीजों की परेशानी का किस्सा नया नहीं है। एक्स-रे रूम ऐसे बंद कमरे में है जहां हवादार नहीं होने के चलते इतनी गर्मी पकड़ लेता है कि मशीन को भी बीच बीच में बंद करना पड़ता है। गर्मी की इस स्थिति के चलते एक्स-रे डेवलप करने के लिए रखा केमिकल तक खराब हो रहा है। जबकि सीएमओ डॉ. विनोद गुप्ता ने इसका मुआयना कर एक रोशनदान बनाकर एग्जोस्ट लगाने के निर्देश दिए थे। यहां रोशनदान के लिए दीवार तो फोड़ दी गई लेकिन एग्जोस्ट पंखा नहीं लगा। हालांकि, अब इस हालात से तभी पीछा छूटेगा जब एक्स-रे भी नवनिर्मित भवन में शिफ्ट होगा।

घर से जल्दी आने का नहीं मिला फायदा

बब्याल निवासी सुरेंद्र के मुताबिक उसे बुधवार को भी निराश लौटना पड़ा और सुबह 9 बजे से लाइन में खड़ा होना पड़ा। बोह निवासी लक्ष्मी नारायण, महेश नगर निवासी जयभगवान व रणदीप ¨सह निवासी खुड्डा कलां भी इसी बात को लेकर परेशान थे। इन लोगों के मुताबिक घर से जल्दी पहुंचने का कोई फायदा नहीं हुआ। एक्स-रे रूम में भी जनरेटर की सुविधा होनी चाहिए ताकि दूर दराज से आए लोगों को बिजली जाने की स्थिति में परेशान न होना पड़े