News Description
विरोध के चलते बंद पड़ा है सड़क का निर्माण

 होडल: राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित रेलवे रोड कालोनी से डबचिक पयर्टन केंद्र तक विकसित कालोनियों का गंदा पानी अब घरों में प्रवेश करने लगा है। मामले को लेकर कालोनी के दर्जनों लोगों ने एकत्रित होकर रविवार को राजमार्ग प्राधिकरण एवं स्थानीय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रोष व्यक्त किया। लोगों के विरोध के चलते राजमार्ग को छह लेन करने का कार्य करीब दो सप्ताह से बंद पड़ा है।

बता दें कि दो सप्ताह पहले भी श्याम कालोनी, रेलवे रोड, रामहेत, डबचिक कालोनी के अलावा अन्य कालोनियों के लोगों ने विरोध कर राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा कराए जा रहे सड़क निर्माण कार्य को रुकवा दिया था। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने लोगों को आश्वासन देकर शांत तो करवा दिया था, लेकिन काफी प्रयास के बावजूद सड़क निर्माण शुरू नहीं हो पाया।

कालोनी निवासी नेहरू वकील के नेतृत्व में भगत ¨सह, भरतपाल, रामदत्त वशिष्ठ, कन्हैयालाल, काशी ठेकेदार, गणपत, गंगलराम बघेल, राजू शेरगढिया, कमला, बिमला, स्नेहलता, पूनम आदि का कहना था कि राजमार्ग किनारे गंदेजलभराव से उनका घरों में रहना मुश्किल हो गया है। उन्होंने बताया कि इस मामले को लेकर कई बार विभागीय अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है, लेकिन अधिकारी आश्वासन देकर चलता कर देते हैं।

गंदे पानी निकासी के लिए बाबरी मोड़ से उझीना ड्रेन तक लगभग 6 करोड़ 70 लाख रुपये की लागत से दो मीटर गहराई की ड्रेन का निर्माण कराया जाएगा, जिसका विभाग द्वारा इस्टीमेट तैयार करके राजमार्ग प्राधिकरण को भेज दिया गया है, लेकिन राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा राशी नहीं भेजे जाने के कारण ड्रेन का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका है। राशी पहुंचने के बाद ड्रेन का निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा।