News Description
कचरा बीनने वाले बच्चों को पहली बार मिला पढ़ने को मौका

 क्षेत्र के छावनी मोहल्ले के राजकीय विद्यालय में झुग्गी-झोंपड़ी निवासी 15 बच्चे जो अब तक महज कचरा बीनने का काम करते थे वे पहली स्कूल आए और अन्य बच्चों के साथ बैठकर स्कूल का अनुभव लिया। जिला युवा क्लब एसोसिएशन के प्रयास से कच्चा बाबरा रोड स्थित झुग्गियों के ये बच्चे कभी स्कूल नहीं गए थे। पिछले एक सप्ताह से युवा क्लब सदस्यों द्वारा इन्हें विद्यालय ले जाने की कवायद की। जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी वेदपाल दौलता को भी इस संबंध में ज्ञापन दिया गया था। संगठन के रामानंद दलाल ने बताया कि इन बच्चों को विद्यालय भेजने के लिए तैयार करने के लिए इनके माता-पिता को काफी मनाना पड़ा। इन बच्चों को विद्यालय पहुंचाने में सिलानी गांव के मयंक चाहार, अखिल चौधरी, प्रशासनिक सहयोग कर रहे अधीक्षक श्रीनारायण कौशिक, पूरी टीम के संचालक मनोज कुमार, सुरेंद्र नागल, अरूण दलाल, रोहित, विकास, मनिता का सहयोग रहा