News Description
झोलाछाप डॉक्टर के क्लीनिक पर मारा छापा

 हथीन: उप सिविल सर्जन डॉ.जय भगवान जाटान व जिला औषधि नियंत्रक डॉ.रजनीश धानीवाल ने बृहस्पतिवार को रनसीका गांव में सीएम ¨वडो की शिकायत पर झोलाछाप डॉक्टर द्वारा संचालित क्लीनिक पर छापे की कार्रवाई की।

   कार्रवाई के दौरान क्लीनिक में दो मरीज इलाज कराते मिले। क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर धर्मबीर से विभाग के अधिकारियों ने जब प्रेक्टिस का सर्टिफिकेट मांगा तो डॉक्टर व उसके परिजनों ने टीम के साथ दु‌र्व्यवहार किया और मरीजों को पीछे के रास्ते से भगा दिया गया। क्लीनिक में रखी दवाओं को समेटकर फरार हो गया।

गांव की एक महिला पंच की तरफ से सीएम ¨वडो पर शिकायत में कहा गया था कि गांव का धर्मबीर नामक व्यक्ति स्वास्थ्य के नाम पर लोगों के साथ खिलवाड़ कर रहा है। धर्मबीर के पास कोई डिग्री नहीं। बावजूद इसके वहां पर खून की जांच, गर्भ में ¨लग जांच, खून चढ़ाने का कार्य के अलावा कई अनेक अवैध कार्य करता है। टीम ने गांव में छापेमारी की तो वहां पर टीम ने आकिब नाम के एक आठ साल के बच्चे तथा गांव की बिमला नामक मरीज को इलाज कराते हुए पाया। ये दोनों बुखार से पीड़ित थे। डाक्टर ने दोनों को ग्लूकोज की बोतल लगाकर क्लीनिक में लिटाया हुआ था।

    टीम द्वारा डाक्टर से मेडिकल प्रेक्टिस का सर्टिफिकेट मांगा तो वह भड़क गया तथा टीम के साथ बदतमीजी से पेश आया तथा जांच में बाधा डाली। मजबूरन टीम को पुलिस बुलानी पड़ी, लेकिन तब तक वह दवाओं को समेट कर भागने में कामयाब हो गया।