News Description
पंचकूला कोर्ट जाते समय गुरमीत राम रहीम के काफिले में थे तीन विधायक

चंडीगढ़। यौन शोषण में 20 साल कैद की सजा पा चुका डेराप्रमुख 25 अगस्त को जब पंचकूला में पेशी पर आया था तो अंबाला तक उसके काफिले में तीन विधायक शामिल थे। इनमें दो हरियाणा और एक पंजाब का है। ये तीनों विधायक लंबे समय से डेरे के साथ जुड़े हैं।

आरोप है कि डेरा प्रमुख जब सिरसा से पंचकूला के लिए रवाना हुआ तो उसकी गाड़ी में सिरसा जिले का एक विधायक सवार हुआ। इसके अलावा सिरसा से ही पंजाब का एक विधायक भी काफिले की एक गाड़ी में था। काफिला जब कैथल में रुका तो वहां मौजूद हरियाणा का एक और विधायक भी काफिले में शामिल हो गया।  डेरा मुखी ने एक रणनीति के तहत इन विधायकों को अपने काफिले में शामिल किया।

 गुरमीत की गाडिय़ों में आपत्तिजनक सामान था। काफिला पंचकूला पहुंचा तो शॉलीमार मॉल के निकट गाडिय़ों की तलाशी ली जा रही थी। तभी पुलिस को तीन विधायकों के काफिले में शामिल होने का पता चला। स्थिति को भांपते हुए पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और उन्होंने तीनों को भीड़ में शामिल कर दिया। भीड़ में मौजूद लोग विधायकों को पहचान नहीं सके और वे मौका पाकर निकल लिए।

पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने सरकार से इन विधायकों के बारे में जानकारी मांगी है। उधर, मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि हमारा कोई विधायक डेरा मुखी के साथ नहीं था। गुरमीत राम रहीम से सार्वजनिक रूप से मिलते रहने के सवालों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि घटनाक्रम के दिन तथा उसके बाद न कोई विधायक और न कोई मंत्री डेरा प्रमुख से मिला है।