News Description
रोहतक रूट पर प्राइवेट बसें रही बंद, बाकि रूटों पर चल रही निजी बसें

 डेरा सच्चा सौदा प्रमुख को दोषी करार देने से पहले ही सरकार ने परिवहन विभाग की बसों का संचालन 24 अगस्त की रात आठ बजे से बंद कर दिया गया था। उसके बाद से फिलहाल तक आगामी आदेशों तक बस सेवाएं बंद करने के आदेश जारी किए गए थे। पिछले चार दिन से केवल परिवहन समिति की बसें ही रूटों पर चल रही थी। लेकिन डेरा प्रमुख को रोहतक में सजा सुनाए जाने को लेकर सुरक्षा की ²ष्टि से परिवहन समिति की बसों का रोहतक रूट पर आवागमन बंद रखा गया। बाकि रूटों पर निजी बसें दिन भर चलती रही। हालांकि डेरा प्रमुख को सीबीआई अदालत की तरफ से दस साल की सजा सुनाए जाने के बाद हालात सामान्य दिखाई दे रहे हैं। हालात सामान्य होने के बाद परिवहन विभाग के अधिकारी भी बस सेवाएं बहाल करने के आदेशों का इंतजार कर रहे हैं। विभाग की तरफ से बस सेवाएं बहाल करने के लिए तैयारियां लगभग पूरी हैं। परिवहन विभाग को बस सेवाएं बंद होने के कारण हर रोज करीब दस लाख रुपये का घाटा हो रहा है। पिछले चार दिन में विभाग को झज्जर जिला में करीब 40 लाख रुपये का नुकसान हो चुका है। बसे बंद होने का असर जन जीवन पर भी पड़ रहा है। लोग पूरी तरह से परेशान हो चुके हैं