News Description
जौहरी नगर में एक दशक पुराने बिजली तार बदले

लाइन पारके जौहरी नगर में एक दशक से ज्यादा समय से जर्जर लटकते बिजली के तारों से निगम अधिकारियों ने राहत दिलाने का काम किया है। आए दिन किसी किसी जगह से पुराने तार टूटकर सड़क पर लटक जाते थे जिससे यहां करंट से कोई हादसा होने का डर लोगों को सताता रहता था। मगर अब निगम की ओर से पुराने सिल्वर के तारों की बजाय पहले से ज्यादा मजबूत इंसुलेटेड केबल लगाकर लोगों को बेहतर बिजली आपूर्ति सुविधा देने का काम किया गया है। 

फ्रैंड्स कॉलोनी जौहरी नगर के बीच में पड़ने वाले पंचमुखी चौक से लेकर बिजली ट्रांसफार्मर तक के हिस्से में बिजली की लाइन काफी पुरानी हो चुकी थी। तार काफी नीचे तक लटके हुए थे। यहां तक कि उनमें स्पैशर तक गायब हो गए थे। कई बार हवाओं के तेज रूख के कारण तार आपस में टकरा जाते थे और इसके कारण फेस-टू-फेस बिजली सप्लाई हो जाती थी। इससे लोगों के घरेलू बिजली उपकरण भी जल जाते थे। यही नहीं सड़क पर तार टूटकर गिरने से हादसा होने का डर भी सताता रहता था। कुछ लोग करंट की चपेट में आने से बाल-बाल बच चुके हैं। सप्ताहभर पहले भी जौहरी नगर की गली नंबर-3 के पास बिजली का तार टूट गया था, जिससे घंटों तक बिजली आपूर्ति प्रभावित रही थी। इसके बाद लोगों में रोष देखने को मिला था। 

थाना रोड से भी पुराने 

तार हटाने की मांग 

निगमके एक्सईन संदीप जैन के संज्ञान में जब मामला लाया गया तो उन्होंने तुरंत समस्या समाधान को लेकर संबंधित जेई ठेकेदार को तारों को बदलने पुराने तारों की जगह अच्छी क्वालिटी की इंसुलेटेड केबल लगाने के लिए कहा। जिस पर ठेकेदार प्रदीप शर्मा ने अपने लगभग 12 कर्मचारियों के साथ मिलकर लंबी वायरिंग डालने का काम किया। इस पर कई घंटे लगे लेकिन उसके बाद बिजली सुचारू हुई तो लोगों को काफी राहत भी मिली। जौहरी नगर के मुख्य मार्ग से लेकर थाना रोड तक के हिस्से के बीच में जहां-जहां पुराने तार अभी भी लगे हुए हैं उनके भी जल्द बदले जाने की आवाज भी उठाई है