News Description
किडनैप बच्ची को तलाशने पहुंची पुलिस को कमरे में बंद मिली दो किशोरी, दुल्हन बनाकर बेचते थे आरोपी,

रोहतक.आसाम से अपहरण की गई एक बच्ची को गुप्त सूचना के आधार पर कलानौर तलाशने आई वहां की पुलिस को मानव तस्करी व वेश्यावृति के एक बड़े गिरोह के सुराग हाथ लगे हैं। अपहृत बच्ची तो पुलिस को कलानौर में नहीं मिली, लेकिन उन्हें छापेमारी में एक कमरे में बंद दो किशोरियां मिली, जिन्हें पुलिस ने छुड़वा लिया। इनमें एक की उम्र 15 वर्ष और दूसरी की 17 वर्ष है। वहां मौजूद लोग फरार हो गए। दोनों किशोरियों का मेडिकल करवाने के बाद उन्हें बाल कल्याण समिति की न्यायिक पीठ द्वारा बहादुरगढ़ में बाल देखभाल संस्थान (सीसीआई) में रेफर कर दिया गया है। प्राथमिक पूछताछ में एक किशोरी ने बड़े गिरोह का खुलासा करते हुए बताया कि 3-4 महिलाएं उसे दबाव में लेकर अलग-अलग जगह शादी करवाती है और उसके बाद उन्हें जेवर आदि समेटकर वहां से आ जाने को कहा जाता है। उसके बाद उनकी दूसरी जगह शादी करवा दी जाती है। कलानौर में उन्हें 3-4 दिन पहले लाया गया था और रात में उनसे गलत काम करवाया जाता। छापेमारी के दौरान कलानौर पुलिस को शामिल नहीं किया गया। यदि दोनों राज्यों की पुलिस में समन्वय होता तो शायद आरोपी भी पकड़े जाते। प्रदेश के कई जिलों में इस तरह की वारदात हो चुकी है, जिसमें बाहर प्रदेश से लाई गई युवतियां शादी के चंद दिनों बाद ही जेवर समेटकर फरार हो जाती हैअपहृत बच्ची तो पुलिस को कलानौर में नहीं मिली, लेकिन उन्हें छापेमारी में एक कमरे में बंद दो किशोरियां मिली, जिन्हें पुलिस ने छुड़वा लिया। इनमें एक की उम्र 15 वर्ष और दूसरी की 17 वर्ष है। वहां मौजूद लोग फरार हो गए। दोनों किशोरियों का मेडिकल करवाने के बाद उन्हें बाल कल्याण समिति की न्यायिक पीठ द्वारा बहादुरगढ़ में बाल देखभाल संस्थान (सीसीआई) में रेफर कर दिया गया है। प्राथमिक पूछताछ में एक किशोरी ने बड़े गिरोह का खुलासा करते हुए बताया कि 3-4 महिलाएं उसे दबाव में लेकर अलग-अलग जगह शादी करवाती है और उसके बाद उन्हें जेवर आदि समेटकर वहां से आ जाने को कहा जाता है। उसके बाद उनकी दूसरी जगह शादी करवा दी जाती है। कलानौर में उन्हें 3-4 दिन पहले लाया गया था और रात में उनसे गलत काम करवाया जाता। छापेमारी के दौरान कलानौर पुलिस को शामिल नहीं किया गया। यदि दोनों राज्यों की पुलिस में समन्वय होता तो शायद आरोपी भी पकड़े जाते। प्रदेश के कई जिलों में इस तरह की वारदात हो चुकी है, जिसमें बाहर प्रदेश से लाई गई युवतियां शादी के चंद दिनों बाद ही जेवर समेटकर फरार हो जाती है