News Description
सामूहिक नमाज अदा कर की बरसात होने की दुआ

सूखे की मार झेल रहे क्षेत्र के सैकड़ों लोगों ने बारिश के लिए विशेष नमाज(नमाज-ए-इस्तस्का) पढ़ी। आली मेव गांव के जंगल में आयोजित इस नमाज में अल्लाह ताला से ऐसे क्षेत्रों में बारिश की दुआ की जहां पर सूखे की स्थिति है। नमाज के बाद देश में अमन, चैन से रहने तथा बुराईयों से दूर रहने की दुआएं कराई गई। आलीमेव गांव के जामा मस्जिद के इमाम मुफ्ती वसीम कासमी ने लोगों को नमाज पढ़ाई।

    एक तरफ से बिहार उत्तर प्रदेश व देश के अन्य राज्यों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। वहीं हथीन क्षेत्र के 84 गांवों में इस बार सूखे की स्थिति से लोगों को सामना करना पड़ रहा है। लोगों की फसलें खराब होने के कगार पर हैं। लोग ¨सचाई के पानी से महरूम हैं। इसलिए आलीमेव गांव में विशेष नमाज का आयोजन किया गया।

नमाज से पहले मौलाना मुफ्ती वसीम कासमी ने कहा कि देश के कई हिस्सों में बाढ़ से दर्जनों लोग तबाह व बर्बाद हो गए हैं। लोगों की फसलें तबाह हो गई है। वहीं हथीन क्षेत्र सूखे की चपेट में है। नमाज अदा करने आए लोगों से मौलाना मुबारक ने बुराइयों को छोड़ने का आह्वान किया।