News Description
पहली कक्षा के बच्चों को बस्ते से मिलेगा छुटकारा, नहीं मिलेगा होमवर्क

  प्राइमरी स्कूलों में पहली कक्षा के बच्चों को अब बस्तों का बोझ नहीं लादना पड़ेगा। पहले चरण में प्रदेश के 110 स्कूलों का चयन किया गया है जहां इन बच्चों को गृहकार्य नहीं दिया जाएगा। योजना सफल रही तो अन्य सरकारी स्कूलों में भी यह सिस्टम शुरू होगा। इसके अलावा सभी 119 खंडों मे साइंस पार्क स्थापित किए जाएंगे ताकि बच्चे खेल-खेल में विज्ञान को समझ सकें।

    मुख्य सचिव डीएस ढेसी की अध्यक्षता में शुक्रवार को सर्व शिक्षा अभियान की 44वीं कार्यकारी समिति की बैठक में तैयारियों की समीक्षा की गई। मुख्य सचिव ने अतिरिक्त उपायुक्तों को निर्देश दिए कि जिलों के विजन डाक्यूमेंट-2022 में शिक्षा को जरूर शामिल करें। उन क्षेत्रों की पहचान करें जहां शिक्षा का स्तर वाजिब स्थान तक नहीं पहुंचा है। पाठ्य पुस्तकों के मुद्रण पर विशेष ध्यान दिया जाए।