News Description
हरियाणा के निजी स्कूलों में 6806 अनट्रेंड शिक्षक, दो साल में करनी पड़ेगी डीएड

  निजी स्कूलों में पढ़ा रहे अनट्रेंड शिक्षकों को दो साल में डीएड (डिप्लोमा इन एजुकेशन) कोर्स करना जरूरी होगा। जुलाई 2019 के बाद कोई अप्रशिक्षित अध्यापक स्कूलों में नहीं पढ़ा सकेगा।

    हरियाणा के गैर सहायता प्राप्त स्कूलों में 5309 और गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों में 1497 अप्रशिक्षित अध्यापक पढ़ा रहे हैं। ये शिक्षक एनआइओएस द्वारा दूरस्थ शिक्षा प्रणाली के जरिये डीएड कर सकेंगे। आवेदकों को केंद्र सरकार निशुल्क यह कोर्स कराएगी। सिर्फ छह हजार रुपये परीक्षा शुल्क देना होगा, जिसमें 1500 रुपये की छूट दी जाएगी। प्रशिक्षण के लिए शिक्षकों को 15 सितंबर तक पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

      स्कूल शिक्षा विभाग ने करीब दस हजार रिक्त पदों पर भर्ती के लिए हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को पत्र लिखा है। जल्द ही भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास ने बताया कि वर्तमान व्यवस्था में रिक्त पदों की रिप्लेसमेंट मेें लंबा समय लग जाता है। यही वजह है कि नियुक्तियों के बावजूद स्कूलों में फिर स्टाफ की कमी हो जाती है। इसलिए विभाग अब हर साल दिसंबर में कर्मचारी चयन आयोग के समक्ष रिक्त पदों की सूची भेजेगा ताकि इन पर नियुक्तियां की जा सकें।