# हरियाणा की मानुषि चिल्लर के सिर सजा फेमिना मिस इंडिया 2017 का ताज         # चीन से तनाव के बीच आज सिक्किम में बॉर्डर का दौरा करेंगे आर्मी चीफ         # अब 200 रुपये के नोटों की छपाई शुरू, जल्द होंगे बाजारों में         # अंतरिक्ष में भारत की ऊंची छलांग, संचार उपग्रह जीसेट-17 का सफल प्रक्षेपण         # आजम खान का विवादास्पद बयान, प्राइवेट पार्ट काटकर सेना से रेप का बदला ले रही हैं महिला आतंकी         # मोदी के मंत्री व सांसद ने निकाली स्वच्छ भारत अभियान की हवा         # जुनैद हत्याकांड मामले में हरियाणा पुलिस के हाथ लगी बड़ी सफलता, 4 आरोपी गिरफ्तार         # मुंबई को दहलाने वाले मुस्तफा दौसा की हार्ट अटैक से मौत         # मोदी 2 दिन के दौरे पर गुजरात पहुंचे, शाम को राजकोट में करेंगे रोड शो         # 5 अगस्त को होगा उपराष्ट्रपति चुनाव, EC ने किया तारीखों का एलान        
Haryana Voice
kya aap modi sarkaar k 3 saal k karyakaal se khush hai
yes
no
don't know
no comments


View results
News Description
सीएनजी आटो चालकों ने शहर में किया जोरदार प्रदर्शन

बहादुरगढ़:

शहर के सीएनजी ऑटो संचालकों ने सिटी ऑटो सर्विस के संरक्षक शमशेर जून के नेतृत्व में उनकी मागों को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। ऑटो संचालक पहले शहीद भगत सिंह पार्क में इकट्ठा हुए और फिर एसडीएम कार्यालय तक जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान हरियाणा सरकार व पुलिस प्रसाशन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। सीएनजी ऑटो संचालकों ने प्रदर्शन करते हुए अपनी मागों का ज्ञापन एसडीएम कार्यालय में सौंपा।

मुख्य मागों में शहर में असामाजिक तत्वों व पुलिस की मिलीभगत के कारण हो रही अवैध वसूली को बंद करने के अलावा टिकरी बॉर्डर, झज्जर मोड़, रेलवे स्टेशन, बस अड्डा व नाहरा-नाहरी मोड़ पर दबंग लोगों द्वारा सवारी नहीं बैठाने देना शामिल है। साथ ही ऑटो संचालकों के साथ मारपीट करने व धमकी देने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की भी माग की गई। सिटी आटो सर्विस के संरक्षक शमशेर जून ने बताया कि 17 मई को टिकरी बॉर्डर पर एक ऑटो वाले सतबीर को बर्फ काटने वाले सुएं से घायल किया गया लेकिन पुलिस अभी तक किसी को भी गिरफ्तार नहीं कर पाई, जबकि जिस दबंग ऑटो वाले ने घायल किया था उसके ऑटो का नंबर भी पुलिस को दे दिया गया था। शमशेर जून ने बताया कि पिछले साल डीएसपी ने सभी ऑटो वालों की बैठक बुलाकर सभी यूनियन को खत्म कर दिया था और जो अवैध वसूली होती थी उसको बंद करवा दिया गया था और सभी को निर्देश दिया था कि आटो ड्राइवर शहर के किसी भी हिस्से से सवारी उठा सकते हैं। कुछ महीने तो सब कुछ सही रहा लेकिन अब फिर कुछ महीनों से पुलिस व असामाजिक तत्वों की मिलीभगत से शहर में फिर से दबंगों की तानाशाही चल रही है।