# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
सीएनजी आटो चालकों ने शहर में किया जोरदार प्रदर्शन

बहादुरगढ़:

शहर के सीएनजी ऑटो संचालकों ने सिटी ऑटो सर्विस के संरक्षक शमशेर जून के नेतृत्व में उनकी मागों को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। ऑटो संचालक पहले शहीद भगत सिंह पार्क में इकट्ठा हुए और फिर एसडीएम कार्यालय तक जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान हरियाणा सरकार व पुलिस प्रसाशन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। सीएनजी ऑटो संचालकों ने प्रदर्शन करते हुए अपनी मागों का ज्ञापन एसडीएम कार्यालय में सौंपा।

मुख्य मागों में शहर में असामाजिक तत्वों व पुलिस की मिलीभगत के कारण हो रही अवैध वसूली को बंद करने के अलावा टिकरी बॉर्डर, झज्जर मोड़, रेलवे स्टेशन, बस अड्डा व नाहरा-नाहरी मोड़ पर दबंग लोगों द्वारा सवारी नहीं बैठाने देना शामिल है। साथ ही ऑटो संचालकों के साथ मारपीट करने व धमकी देने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की भी माग की गई। सिटी आटो सर्विस के संरक्षक शमशेर जून ने बताया कि 17 मई को टिकरी बॉर्डर पर एक ऑटो वाले सतबीर को बर्फ काटने वाले सुएं से घायल किया गया लेकिन पुलिस अभी तक किसी को भी गिरफ्तार नहीं कर पाई, जबकि जिस दबंग ऑटो वाले ने घायल किया था उसके ऑटो का नंबर भी पुलिस को दे दिया गया था। शमशेर जून ने बताया कि पिछले साल डीएसपी ने सभी ऑटो वालों की बैठक बुलाकर सभी यूनियन को खत्म कर दिया था और जो अवैध वसूली होती थी उसको बंद करवा दिया गया था और सभी को निर्देश दिया था कि आटो ड्राइवर शहर के किसी भी हिस्से से सवारी उठा सकते हैं। कुछ महीने तो सब कुछ सही रहा लेकिन अब फिर कुछ महीनों से पुलिस व असामाजिक तत्वों की मिलीभगत से शहर में फिर से दबंगों की तानाशाही चल रही है।