# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
गोकुल में बजत है बधैया, नंद के घर जन्मे कन्हैया

 जिले भर में श्रद्धा और भक्ति भाव से कृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। दिन भर श्रद्धालुओं ने व्रत रखकर भजन-कीर्तन किया। श्रद्धालुओं ने भगवान श्रीकृष्ण की आरती की। महिलाओं ने गोकुल में बजत है बधैया, नंद के घर जन्मे कन्हैया के भजन गाकर वातावरण को भक्तिमय बनाया दिया। मंदिरों एवं कई जगहों पर झांकियां सजाई गई। वहीं कई सजीव झांकिया भी आकर्षण का केंद्र रही। मंदिरों में धार्मिक अनुष्ठान, भजन-कीर्तन कार्यक्रम हुए। श्रद्धालुओं ने प्रसादी प्राप्त कर घरों पर जाकर उपवास खोलावहीं श्रीकृष्ण संग्रहालय में जन्माष्टमी पर्व श्रद्धापूर्व मनाया गया। प्रथम सत्र में जन्माष्टमी पूजा का आयोजन किया गया, जिसमें कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के मानद सचिव अशोक सुखीजा मुख्य यजमान थे। उन्होंने कहा कि संग्रहालय केडीबी की सांस्कृतिक एवं शैक्षणिक गतिविधियों का एकमात्र केंद्र है। संग्रहालय में स्कूली विद्यार्थियों के लिए एक चित्रकला प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया था। इस अवसर पर केडीबी सदस्य केसी रंगा, संग्रहालय क्यूरेटर राजेंद्र राणा, बलवान ¨सह, प्रो.एसपी शुक्ला प्रमुख रूप से मौजूद थे।

वहीं प्राचीन तीर्थ नाभिकमल मंदिर में जन्माष्टमी महोत्सव के समापन पर भंडारे का आयोजन किया गया। मुख्य यजमान समाजसेवी प्रवीण सतपाल शर्मा ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण पूरे विश्व में पूजे जाते हैं व इनका जन्मोत्सव पूरे विश्व मे बड़े धूमधाम से मनाया जाता है। इससे पूर्व मंदिर के महंत विशाल मणी दास ने मुख्य यजमान व पार्षद संदीप टेका व आए हुए मेहमानों का स्वागत किया व स्मृति चिन्ह भेंट किए। इस अवसर पर जीतमणी दास, चरणजीत उदारसी ब्लाक समिति सदस्य, करतार चंद दबखेड़ी ब्लाक समिति सदस्य व राममेहर भुक्कल ज्योतिसर मौजूद थे।

चक्रवर्ती मोहल्ला थानेसर स्थित ओम शिव साईं मंदिर में जन्माष्टमी का पर्व धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ पार्षद नितिन भारद्वाज लाली ने किया। कथावाचक पंडित रामअवतार श्रोत्रीय ने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण सभी ²ष्टियों से पूर्णावतार थे। कार्यक्रम में पंडित विजय कुमार शर्मा, पुजारी समाक्ष शर्मा, चीनू शर्मा, रघुनंदन भारद्वाज, तिलकराज पोपली, नरेंद्र गर्ग, सुरेंद्र कोहली, गोपाल कक्कड़, मोहित शर्मा और प्रवीण अरोड़ा मौजूद रहे।

महादेव मोहल्ला स्थित श्रीश्री राधाकृष्ण मंदिर में जन्माष्टमी महोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मंदिर के पुजारी पं. राधाकृष्ण दास पांडे व ¨वध्य प्रकाश पांडे ने श्रद्धालुओं से भगवान श्रीकृष्ण की पूजा संपन्न करवाई। कार्यक्रम में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय दर्शन शास्त्र के सेवानिवृत विभागाध्यक्ष डा. हिम्मत ¨सह सिन्हां ने श्रीकृष्ण की महिमा बताई। श्रीकृष्ण जन्म आरती में श्री ब्राह्मण एवं तीर्थाेद्धार सभा के प्रधान यशेंद्र शर्मा, विजय शर्मा, वरुण दत्त, अरुण दत्त, मनमोहन शर्मा, मनीष वत्स, अनिरुद्ध शर्मा हन्नी, सुमित गर्ग बंटी, अमित शर्मा रॉकी, अश्विनी शर्मा व रजनीश शर्मा मौजूद रहे।

भारतीय योग संस्थान कुरुक्षेत्र इकाई के तत्वावधान में राजेंद्र नगर स्थित कुटिया में स्वतंत्रता दिवस एवं श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व धूमधाम से मनाया गया। जिलाध्यक्ष मान ¨सह ने बताया कि इस राष्ट्रीय एवं धार्मिक पर्व का शुभारंभ वात्सल्य वाटिका के संचालक हरिओम दास परिव्राजक ने मुख्य अतिथि के रूप में दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया।

इस अवसर पर संरक्षक गो¨वद लाल सेतिया, डा. मनीष कुकरेजा, हेम¨सह राणा, सुरेश कुमार, सतीश शर्मा, केके कौशल, गुलशन ग्रोवर, गणपति माटा व देवीदयाल शर्मा मौजूद रहे।गो-गीता- गायत्री सत्संग सेवा समिति द्वारा सेक्टर-5 के शिव मंदिर में आयोजित श्रीमछ्वागवत कथा में कथावाचक अनिल शास्त्री ने भगवान श्रीकृष्ण जन्म एवं नंदोत्सव प्रसंग भजनों सहित विस्तार से सुनाए। कथा के दौरान वसुदेव-शिशु कृष्ण की झांकी भी दिखाई गई। सेक्टर-5 वेलफेयर सोसायटी के प्रधान दलबीर ¨सह, भाजपा नेता रमेश सुधा एवं पिपली अनाजमंडी से चौ. अमीर चंद ने कथा का दीप प्रज्ज्वलित किया।

बाबैन संवाद सहयोगी के अनुसार श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर प्राचीन शिवालय मंदिर बाबैन से मंदिर के स्वामी मंहत त्रिकाल गिरी जी महाराज की प्रेरणा से बाबैन की गलियों में शोभा यात्रा निकाली गई। भव्य झांकियों को सजाया गया जिससे बाबैन का बाजार एवं गलियां कृष्णमयी हो गई। महंत त्रिकाल गिरी महाराज ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण के जीवन व दर्शन से मानव को अनेक प्रेरणाएं मिलती है। इस अवसर पर जयपाल भीमड़ा, रामपाल सैनी, माम चंद, लक्ष्मी चंद ¨सगला, डा. फकीर चन्द, रामऋषि, सोमनाथ अरोड़ा, अनिल शर्मा, धर्मपाल सैनी, प्रवीण शर्मा व ऋषिपाल प्रमुख रूप से मौजूद थे।