# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
ड्रग्स मामलों पर हरियाणा मुस्तैद,जांच के लिए अधिकारियों को दी जा रही ट्रेनिंग

ड्रग तस्करी के बढ़ते मामलों व जांच की पेचिदगियों को लेकर पंजाब और हरियाणा दोनों सरकारें भी मुस्तैद हो गई हैं। पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट के आदेश पर दोनों राज्यों ने अपने पुलिस अधिकारियों व कर्मियों के लिए ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू कर दिए हैं। यह जानकारी दोनों राज्यों की सरकारों ने सोमवार को हाई कोर्ट को दी है ।

पंजाब सरकार ने हाई कोर्ट को बताया कि हाई कोर्ट के निर्देश पर सरकार ने इसके लिए पुलिस कर्मियों के लिए विभिन स्तरों पर एक ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू किए हैं। यह प्रोग्राम फिल्लौर की पुलिस अकेडमी के पाठ्यक्रम में शामिल कर दिया गया है। इसी तरह हरियाणा ने भी ड्रग केसों की जांच में सुधार लाने के लिए मधुबन पुलिस अकेडमी में ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू कर दिए गए हैं ।

दोनों राज्य सरकारों ने हाई कोर्ट को बताया कि नियमों का उल्लंघन कर चल रहे केमिस्टों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। पंजाब सरकार ने बताया कि जून और जुलाई में 22 जिलों के 1015 केमिस्ट शॉप की जांच में 156 दुकानें ऐसी मिली, जहां अयोग्य लोग संचालन कर रहे थे। वहीं 55 दुकानों पर लाइसेंस सही जगह पर नहीं प्रदर्शित किया गया। इन सभी को सरकार की ओर से नोटिस जारी कर दिया गया है।

वहीँ हरियाणा सरकार ने बताया कि 1 अप्रैल से 30 जून के बीच 2746 केमिस्ट शॉप की जांच की गई, जिनमें 2478 दुकानों पर रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट मिले। शेष 268 में रजिस्टर्ड फार्मासिस्ट उपस्थित नहीं था। इनमें से 97 के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए हैं।