News Description
हरियाणा का राज्यस्तरीय कार्यक्रम पंचकूला में आयोजित,राज्यपाल ने किया ध्वजारोहण

    हरियाणा के राज्यपाल प्रो. कप्तान सिंह सोलंकी ने पंचकूला में 70वें स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजोरहण कर परेड की सलामी ली। इस अवसर पर उन्होंने पंचकूला जिले के स्थापना दिवस की विशेष तौर पर बधाई दी। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन की पहली चिंगारी 8 मई 1857 को अंबाला में फूटी थी। उस समय हरियाणा में अंग्रेजों ने अनेक वीरों को सरेआम फांसी दी थी और छह-छह साल के बच्चों तक को गिरड़ी से कुचला गया था। प्रदेश के स्वर्ण जयंती वर्ष में हरियाणा ने कई मुकाम हासिल करके प्रदेश देश में कई क्षेत्रों में अग्रणी स्थान प्राप्त कर चुका है।

    70वें स्वतंत्रता दिवस का राजयस्तीय समारोह पंचकूला के सेक्टर-5 स्थित परेड ग्राउंड में आयोजित किया गया। इस अवसर राज्यपाल ने झंडा फहराया ओर परेड से सलामी ली। राज्यपाल ने सभी देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की 70वीं वर्षगांठ व जन्माष्टमी के पावन त्योहार की बधाई दी। उन्होंने कहा कि भारतवासियों के लिए आज बड़े गर्व और गौरव का दिन है।

     राज्यपाल ने कहा कि हरियाणा इस वर्ष अपना स्वर्ण जयंती वर्ष मना रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की गिनती देश के विकसित राज्यों में होती है और इसकी प्रगति की देश-विदेश में चर्चा है। आधी सदी की इस विकास यात्रा में राज्य में सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है। यह हर साल 7 प्रतिशत से भी अधिक की दर से बढ़ रही है। यहां देश के 33 प्रतिशत दोपहिया वाहन, 50 प्रतिशत कारें, 52 प्रतिशत क्रेन और 80 प्रतिशत एस्केलेटर बनते हैं।