#घाटी में आतंकवाद को नई धार देने की फिराक में हाफिज         # 26/11 जैसे हमलों को रोकने के लिए तैयार भारत, सैटेलाइट के जरिए पकड़े जाएंगे संदिग्ध         # पद्मावती के विरोध में किले में लटका दी लाश, पत्थर पर लिख दी धमकी         # हरियाणा के 13 जिलों में तीन दिन के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद         # जनहित याचिकाओं के गलत इस्तेमाल पर सुप्रीम कोर्ट चिंतित, संशोधन पर विचार         # ऑड-ईवन योजना में दिल्ली के साथ NCR के दूसरे शहर भी होंगे शामिल :EPCA         # UP निकाय चुनावों में EVM की विश्वसनीयता पर शत्रुघ्न सिन्हा ने उठाए सवाल         # पाक की बेशर्मी, फूलों से सजी गाड़ी से पहुंचा आतंकी हाफिज, लाहौर में मना जश्न        
News Description
बदलते परिवेश में बढ़ रही ई-पुस्तकालयों की जरूरत

 भारतीय तकनीकी संस्थान रुड़की के पुस्तकालयाध्यक्ष डॉ. जयकुमार चोको¨लगम ने कहा कि वर्तमान में युवाओं के पढ़ने के तरीकों में बदलाव आ रहा है। कागज की जगह ई-पुस्तकों ने लेना शुरू कर दिया है। इसलिए ई-पुस्तकालयों की आवश्यकता भी बढ़ रही है। जिसके लिए बदलाव की आवश्यकता है। वे राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान एवं हरियाणा पुस्तकालय संघ की ओर से आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार के समापन समारोह के अवसर पर बोल रहे थे।

कार्यक्रम में संस्थान के डीन शोध व परामर्श प्रो. ब्रह्मजीत ¨सह ने प्रतिभागियों को आज के डिजिटल युग में पुस्तकालयों की भूमिका के बारे में बताया। सेमिनार आयोजन समिति के सचिव कृष्ण गोपाल व संघ के अध्यक्ष डॉ. मनोज जोशी, उपाध्यक्ष डॉ. बलेश शर्मा, वित्त सचिव सुभाष शर्मा और महासचिव डॉ. रूपेश गौड़ को उनके उत्कृष्ट कार्यो के लिए सम्मानित किया गया। दोपहर बाद हरियाणा पुस्तकालय संघ जनरल बॉडी मी¨टग संरक्षक आरडी मैहला की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें अगले सत्र के लिए पदाधिकारियों का सर्वसम्मति से चुनाव भी किया गया।

डॉ. एनएस शौकीन बनी प्रधान

एसोसिएशन के नवनियुक्त प्रचार सचिव डॉ. चेतन शर्मा ने बताया कि संरक्षण मंडल में आर डी मैहला, डॉ. कृष्ण गोपाल तथा डॉ. मनोज जोशी को चुना गया। इसके अतिरिक्त प्रधान के लिए डॉ. एनएस शौकीन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष के लिए डॉ. बलेश शर्मा, उपाध्यक्ष के लिए ओमपाल, महासचिव के लिए डॉ. रूपेश गौड़, उप-सचिव के लिए सुभाष शर्मा, वित्त सचिव के लिए बलदेव आर्य को चुना गया