News Description
4 चौराहों से गुजरे, एक पर भी नहीं मिली पुलिस, 5 KM तक लड़की का किया था पीछा

सेक्टर-18 स्थित एक महिला कॉल सेंटर कर्मी के साथ रविवार/सोमवार की रात कार सवार दो युवकों ने 5 किलोमीटर तक पीछा किया था। इस मामले को पुलिस ने कितनी गंभीरता से लिया, यह जानने के लिए दैनिक भास्कर की चीफ रिपोर्टर कंचन गुप्ता, क्राइम रिपोर्टर मनोज धर द्विवेदी और फोटो जर्नलिस्ट दिनेश कुमार ने गुरुवार की रात महिला कर्मी की कंपनी से राजीव नगर तक का जायजा लिया। पांच किलोमीटर के दायरे में चार चौक गुजरने के बाद भी कहीं पुलिसकर्मी या पीसीआर नहीं दिखाई दी। इस घटना के बाद भी महिला सुरक्षा को लेकर पुलिस गंभीर नहीं दिखाई दे रही है।
 
कंपनी के गेट के बाहर कर्मचारियों का जाना-जाना लगा हुआ था। कंपनी के गेट पर स्ट्रीट लाइट जल रही थी। लेकिन कंपनी से इफको चौक की ओर जाने वाली सर्विस रोड अंधेरा छाया हुआ था। ऐसे में रात 12 बजे इस रोड पर क्या स्थिति हो सकती हैै। इस रोड पर कोई पुलिसकर्मी या पीसीआर दिखाई नहीं दी।
 
9:50 बजे रात-इफको चौक से एसबीआई एकेडमी पहुंचे।(कोई स्ट्रीट लाइट नहीं, बिल्कुल अंधेरा, पुलिस कर्मी दूर-दूर तक दिखाई नहीं दिए)। यहां पर कार सवार युवकों ने पीड़िता को रुकने के लिए इशारा किया था।
 
09.55 बजे रात-दिल्ली रोड के टी-प्वाइंट पर पहुंचे (यहां पुलिसकर्मी नहीं था, लेकिन स्ट्रीट लाइटें जल रही थी। यहां पर भी पुलिस नहीं दिखाई दी।
 
9.56 बजे रात-इसके बाद हम ओल्ड दिल्ली रोड से अतुल कटारिया चौक पहुंचे। बता दें कि चौक और टी प्वाइंट के बीच में बदमाशों ने महिला कर्मचारी को दो बार रोकने का प्रयास किया था। चौक पर पीड़िता ने लोगों से मदद की गुहार लगाई थी। जिस पर एक बुजुर्ग सहयोग के लिए राजी हुआ था, लेकिन बदमाशों ने उसे धमका दिया था।
 
10.00 रात-अतुल कटारिया से केंद्रीय विद्यालय तक स्ट्रीट लाइटें चल रही थी। लेकिन पुलिस टीम नहीं थी। यहीं से युवती ने अपने घर राजीव नगर जाने के लिए गलियों का सहारा लिया था। नोट: कंपनी सेक्टर-18 से राजीव नगर की दूरी छह किमी है। पीड़िता का बदमाशों ने पीछा सिरहौल मोड़ यानि एसबीआई एकेडमी के पास से किया था। इस तरह पांच किलोमीटर तक महिला कर्मचारी का बदमाशों ने पीछा किया।