News Description
दो साल से 5 िकमी तक बंद स्ट्रीट लाइट होंगी चालू

नगरपरिषद की उदासीनता के चलते बसंत विहार में टूटी नाली से लोगों को परेशानियों का सामना पड़ रहा है। इसकी शिकायत साल से लगातार नगर परिषद के चेयरपर्सन, सचिव, एमई के साथ-साथ उपमंडल अधिकारी, उपायुक्त तक को लिखित पत्र के माध्यम से की जा चुकी है, लेकिन समस्या का कोई समाधान नहीं हो रहा है। बसंत विहार निवासी नरेंद्र ने बताया घर के सामने से एक गहरी नाली गुजर रही है। जो अब टूट कर एक नाले रूप धारण कर चुकी है। इससे मकान को नुकसान हो रहा है। नगर परिषद में नाली के पुनर्निर्माण के लिए पत्र पत्र लिखने के बाद भी नाली नहीं बन रही है। जब कहीं पर सुनवाई नहीं हुई तो उन्होंने सीएम विंडो में पत्र लिखकर गुहार लगाई। यहां भी केवल खानापूर्ति वाला जवाब दिया गया। 


स्वतंत्रतादिवस जन्माष्टमी के दिन शहर के लोगों को हाईवे और शहर के अंदर की सड़क पर लगी सभी स्ट्रीट लाइटें चालू हालत में मिलेंगी। यह लाइटें दो सालों से बंद पड़ी हैं पर नगर परिषद उसे ठीक करने लिए कोई प्रयास नहीं कर रही थी। कभी स्ट्रीट लाइट के बिल को लेकर दिक्कत थी तो कभी नगर परिषद लाइट लगाने वाली कंपनियों के भरोसे थी कि वे इसे चालू हालत में नगर परिषद को सौंपे। इस तरह की तकनीकी परेशानियों के चलते दो साल से वाहन चालक अपने वाहनों की रोशनी में हाईवे को पार कर रहे थे। इससे कम रोशनी होने के कारण दुर्घटना का खतरा भी रहता था लूट की घटनाएं हो रही हैं। अब नगर परिषद ने सभी स्ट्रीट लाइटों की बिजली खर्च की जिम्मेदारी ली है। 

नगरपरिषद के एमई ओमदत्त ने बताया कि बिजली निगम ने छह स्थानों पर मीटर लगाने की तैयारी की है। टिकरी बॉर्डर से सेक्टर छह से आगे तक झज्जर रोड पर लगी स्ट्रीट लाइटों को शुरू कर दिया जाएगा। करीब दो सौ से अधिक स्ट्रीट लाइटों में कितना बिल होगा इसके बारे में अभी बताया नहीं जा सकता।एमई ने कहा कि शहर के किसी भी खंभे पर लगी स्ट्रीट लाइट बंद नहीं रहेगी। जन्माष्टमी पर्व पर लोग देर रात तक भगवान के दर्शनों के लिए मंदिरों में जाते हैं। इस कारण प्रयास है कि एक दो दिनों में ही सभी स्ट्रीट लाइटों को शुरू कर दिया जाए