News Description
रक्षाबंधन सभी बंधनों से ज्यादा पवित्र:अंजलि

लाइनपार में स्थित वैश्य बीएड कालेज में ब्रह्मकुमारीज ईश्वरीय विश्वविद्यालय के स्थानीय धाम की ओर से बहन अंजलि ने रक्षा बंधन पर्व के उपलक्ष्य में छात्राओं व स्टाफ को पर्व की महत्वता को नए तरीके से उजागर किया। समारोह की अध्यक्षता कालेज की प्राचार्या डॉ. आशा शर्मा ने की।

उन्होंने कहा कि रक्षाबंधन ऐसा बंधन है जो सभी बंधनों में से सबसे ज्यादा पवित्र है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि बहनें तोहफे के रूप में अपने भाईयों से नारी रक्षा व स मान की शपथ लें। जिससे समाज में सभी बहनें अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकें। बहन अंजलि ने यह भी बताया कि रक्षा बंधन महज एक त्यौहार न होकर राष्ट्रीय एकता व भाईचारे का प्रतीक है तथा इन त्यौहारों के कारण ही भारत वर्ष सभी राष्ट्रों में विश्व गुरु के पद पर आसीन है। कार्यक्रम के अंत में बहन अंजलि ने भारतीय संस्कृति, स यता और आध्यात्मिकता को भावी पीढ़ी को विरासत के रूप में देने का आह्वान किया तथा उन्होंने जाति वर्ग के भेदभाव को मिटाकर मानवता को श्रेष्ठ धर्म बताया।

इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. आशा शर्मा ने बहन अंजलि का धन्यवाद देते हुए कहा कि आज की युवा पीढ़ी अनेक कुरीतियों से ग्रस्त है और पथभ्रष्ट है, हमें उन्हे नैतिक मूल्य समझाने व सिखाने होंगे ताकि वे जीवन, समाज व देश को ऊंचाइयों पर पहुचा सके। व्याख्यान के बाद महाविद्यालय की प्राचार्या व शिक्षकों को बहन अंजलि ने राखी बाधकर समाज में भाईचारे व नैतिकता फैलाने का संदेश दिया।