News Description
नृत्य प्रतियोगिता में आरोही मॉडल स्कूल रहा प्रथम

राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल उचाना कलां में खंड स्तरीय कला उत्सव कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें छठी से आठवीं, नौंवी से 12वीं कक्षा के छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया। खंड के 52 सरकारी स्कूलों के 650 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। किसी भी प्राइवेट स्कूल ने कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लिया। इसकी अध्यक्षता प्राचार्य रणपाल श्योकंद ने की तो मुख्य अतिथि के तौर पर बीईओ आरके अहलावत ने हिस्सा लिया। मंच संचालन मा. रामप्रसाद पालवां, राजेश चहल ने संयुक्त रूप से किया। निर्णायक मंडल में पूनम मलिक, ज्योति, प्रवीण कुमार, बलजीत सिंह, जगदीश, सुनील शामिल थे। 

कन्या स्कूल उचाना मंडी की छात्राओं ने यू मेरा हरियाणा में लोक संस्कृति की झलक दिखाई, कन्या स्कूल छातर की छात्राओं ने सावन के महत्व को दर्शाने वाले झूला झूलने के गीत प्रस्तुत किए। आरोही स्कूल घसो की कला उत्सव पर बनाई गई रंगोली आकर्षक थी। खटकड़ हाई स्कूल के छात्राओं द्वारा बनाए गए मिट्टी के खिलौनों को सराहा गया, बुडायन स्कूल की छात्राओं ने बेटी बचाओ, पर्यावरण, जल बचाओ पर पोस्टर बनाए कर संदेश दिया। छातर के स्कूल की छात्राओं ने कन्या भ्रूणहत्या पर कटाक्ष करने वाले नाटक थारा भीतरला कद जाग्गैगा प्रस्तुत किया। आरके अहलावत ने कहा कि यूनिवर्सिटी में होने वाले कला उत्सवों की तर्ज पर शिक्षा विभाग द्वारा खंड स्तर से राष्ट्रीय स्तर तक इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। ऐसी प्रतियोगिताओं में पांच लाख रुपए तक के पुरस्कार केंद्र सरकार की ओर से रखे गए हैं।