# बयान से पलटे करणी सेना प्रमुख ,पद्मावत देखने से इंकार         # अमेरिका में शटडाउन खत्म, राष्ट्रपति ट्रंप ने साइन किए बिल         # दिल्ली: राजपथ पर फुल ड्रेस रिहर्सल आज, कई जगह मिल सकता है जाम         # सेंसेक्स की डबल सेंचुरी, पहली बार 36000 के पार, निफ्टी ने भी रचा इतिहास         # सीलिंग के विरोध में दिल्ली के सभी बाजार आज रहेंगे बंद         # भारत-पाक बॉर्डर पर तनाव के बीच जम्मू कश्मीर में LOC के आर - पार बस सेवा फिर शुरू         # मिजोरम में शरण लिए म्यांमार के 1400 लोगों का देश लौटने से इनकार         # हरियाणा में सरकारी कर्मचारियों को देना होगा दहेज नहीं लेने का शपथ पत्र         # हरियाणा के कांग्रेस विधायकों को पार्टी फंड के लिए नोटिस         # दिल्ली एनसीआर में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश से ठंड की वापसी        
News Description
गुरुग्राम में पांच करोड़ के पुराने नोट पकड़े

 नोटबंदी के आठ महीने बाद भी नोट बदलने का खेल चल रहा है। इसी खेल के जाल में फंसाकर पालम विहार क्राइम ब्रांच ने बृहस्पतिवार दोपहर पांच करोड़ रुपये की पुरानी करंसी बरामद की। सात आरोपियों को भी मौके से काबू किया गया। सभी से पूछताछ चल रही है।

बृहस्पतिवार को क्राइम ब्रांच पालम विहार के प्रभारी सज्जन ¨सह को सूचना मिली कि सेक्टर-15 पार्ट एक स्थित एक मकान में भारी मात्रा में पुरानी करंसी रखी हुई है। इस करंसी को कुछ लोग बदलना चाहते हैं। इसके बाद सज्जन ने टीम बनाई। एक पुलिसकर्मी को लोगों से बातचीत करने के लिए कहा गया। पुलिसकर्मी ने कहा कि वह नोट बदलवा देगा लेकिन 15 प्रतिशत कमीशन लगेगा। इस पर सभी तैयार हो गए। तय समय के मुताबिक पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचा। साथ ही टीम भी पहुंच गई। मौके से पुरानी करंसी बरामद कर ली गई। सभी नोट एक हजार एवं 500 रुपये के हैं। मौके से ही सात लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया गया। सभी नोट प्लास्टिक के बक्से में रखे हुए थे।

पकड़े गए सातों आरोपियों की पहचान दिल्ली निवासी राजीव, सतीश, संदीप एवं राजेश, नैनीताल निवासी दिनेश, गुरुग्राम निवासी अमित एवं रोहतक निवासी प्रवीण के रूप में हुई है। जिस मकान में पुरानी करंसी बरामद की गई उसी में आरोपियों में से एक अमित रहता है। छापेमारी टीम में प्रभारी इंस्पेक्टर सज्जन ¨सह के साथ ही एएसआइ मुरारी, हेड कांस्टेबल कुलदीप, विकास एवं विनोद शामिल थे। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है कि कहां से रुपये लाए, किसके रुपये हैं, अब तक कितने रुपये बदलवा चुके, किससे रुपये बदलवाए आदि।