News Description
मां का दूध शिशु के लिए सर्वोत्तम आहार

महिलाएवं बाल विकास विभाग की तरफ से भट्टू में स्तनपान दिवस मनाया गया। कार्यक्रम में रैली निकाल कर लोगों को स्वच्छता स्वस्थ रहने के बारे में जागरूक किया गया। सीडीपीओ राजबाला ने कहा कि स्तनपान निरंतर करवाते रहना चाहिए। मां का दूध शिशु के लिए सर्वोत्तम आहार है। जन्म के तुरंत बाद मां का दूध जरूर पिलाएं। गर्भ अवस्था के दौरान महिला को अच्छे खानपान, साफ सफाई, संपूर्ण टीकाकरण पर विशेष ध्यान देना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग की एलएचवी सुदेश ने बच्चों के टीकाकरण मां के दूध के बारे में विस्तार से बताया। आंगनबाड़ी वर्कर सुपरवाइजर ने मिलकर कुपोषण, बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं, मां का दूध स्वच्छता रैली के माध्यम से लोगों को जागरूक किया। सुपरवाइजर राजकौर, कौशल, सुमन, राजबाला, शालू, आंगनवाड़ी वर्कर अनीता, नीलम, कलावती, बबीता, परमेश्वरी, सुनीता, रिटा, सुदेश, शीला, निर्मला, सुरेश आदि मौजूद थी। 

स्वच्छता अभियान के तहत जागरूकता रैली निकालते हुए आंगनबाडी वर्कर। 

टोहाना | विश्वस्तनपान दिवस के उपलक्ष्य में महिला एवं बाल विकास विभाग ने एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया। परियोजना अधिकारी ऊषा ग्रोवर की अध्यक्षता में कार्यक्रम था। कार्यशाला में डॉ. मौसम, सभी सुपरवाइजर मौजूद रही। परियोजना अधिकारी ऊषा ग्रोवर ने एक्सक्लूसिव ब्रेस्ट फीडिंग के साथ-साथ 6 माह के पश्चात ऊपरी आहार धीरे-धीरे शुरू कर देने के बारे में बताया। उन्होंने यह भी बताया गया कि दूध पिलाना दो वर्ष तक जारी रखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि छोटे बच्चे को दूध पिलाने के साथ सीधा लिटाएं, थपकी दें उसे उल्टा सुलाएं। सर्कल सुपरवाइजर मधु ने सरकार द्वारा चलाई जा रही कंडीशनल मैटरनिटी बेनीफिट स्कीम के बारे में जानकारी दी।