# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
कोर्ट की सुरक्षा पड़ रही टाइपिस्टों की रोजी रोटी पर भारी

अंबाला शहर : कोर्ट परिसर में पेशी पर आए मुजरिमों पर आए दिन होने वाले हमलों के बाद उपजी सुरक्षा की चिंता से निपटने के लिए जिला प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था को खंगालने में लगा हुआ है। इसकी गाज कोर्ट परिसर के आसपास बैठे टाइपिस्ट पर भी गिरती दिखाई दे रही है। जिला प्रशासन यहां बैठे करीब ७२ टाइपिस्टों से उनके ठिकाने एक सप्ताह के भीतर खाली करने के आदेश दिए हैं। टाइपिस्टों को तहसीलदार ने चेताया है कि या तो वे अपने टाइङ्क्षपग संबंधी लाइसेंस की व्यवस्था करें अथवा परिसर खाली करें 

टाइपिस्टों के मुताबिक वे सभी सालों से बैठे हैं और उनकी वजह से कभी सुरक्षा में सेंध नहीं लगी है। आगे भी वे हर प्रकार की जांच पड़ताल से गुजरने को तैयार हैं। अलबत्ता, उपायुक्त ने साल १९९५ से पहले के लाइसेंस शुदा टाइपिस्टों का हवाला देकर उनके लाइसेंस संबंधी प्रक्रिया पूरी करने के लिए कानूनी हल निकालने के लिए आश्वस्त किया है।