News Description
प्रत्येक खंड के सरकारी स्कूलों में जाएगी आरबीएसके टीम

     डेंगू-मलेरियाफैलने से रोकने को अब स्वास्थ्य विभाग की आरबीएसके टीम खंड स्तर पर अपने-अपने क्षेत्रों के स्कूलों में जाकर बच्चों को इनसे बचाव के तरीके बताएगी। टीम के सदस्य बच्चों को हाथ धोने से लेकर कैसे ये बीमारियां फैलती है, इन सब की जानकारी देंगे। इस काम में एएनएम बहुउद्देश्यीय कर्मचारी भी सहयोग करेंगे। दूसरे इन बीमारियों पर अंकुश बारे जल्द ही डीसी की अध्यक्षता में बैठक भी होगी। 

   स्वाइनफ्लू का मिला एक संदिग्ध, 7 मलेरिया 1 चिकनगुनिया : जिलामें अब तक मलेरिया के 7 पॉजीटिव मरीज मिल चुके हैं, जबकि 1 चिकनगुनिया का भी मामला आया है। इसके अलावा कोसली क्षेत्र के एक गांव में स्वाइन फ्लू का भी संदिग्ध मरीज मिला है। हालांकि वह बीमार होने के समय जिले से बाहर गया था। अधिकारियों का कहना है कि फिर भी उनके घर आसपास के घरों में जाकर जांच भी की गई। साथ ही नागरिक अस्पताल के अलावा सीएचसी स्तर पर भी इसकी दवाइयां उपलब्ध है। 

      टीम के सदस्यों द्वारा शहर के साथ ही गांवों में भी घरों के कूलरों टंकियों में भरे पानी में लार्वा की जांच की जा रही है। इस दौरान अगर कहीं लार्वा मिलता है तो वहां नोटिस दिया जाता है। तीन दिन बाद उसकी दोबारा से जांच होती है। इसमें अगर लार्वा फिर से मिलता है तो उसका चालान भी काटा जाएगा।