News Description
सरकारी अस्पताल में महंगा इलाज कराना, अनेक सुविधाओं के लिए लागू किया शुल्क

 स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सरकारी अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाओं को शुल्क बढ़ा दिया है। एक अगस्त से अस्पतालों में अधिकांश सुविधाएं महंगी हो गई हैं। विभाग की तरफ से 7 जुलाई को स्वास्थ्य सेवाओं के लिए लागू किए गए रेट का गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया था। जिसे मंगलवार को अस्पतालों में लागू कर दिया गया है। पहले एमएलआर की प्रति लेने की फीस 100 रुपये थी। अब इसे बढ़ा कर 250 रुपये कर दिया गया है। इसी प्रकार किसी भी व्यक्ति की मौत होने पर पोस्टमार्टम की रिपोर्ट की प्रति अगर लेनी है तो उसके लिए भी अब 100 रुपये अदा करने होंगे। वहीं अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों को प्रति दिन बिस्तर शुल्क भी पांच रुपये की बजाए 10 रुपये अदा करना होगा। कई प्रकार के टेस्टों के लिए भी शुल्क लागू कर दिया गया है। सरकार की तरफ से बढ़ाए हुए शुल्क सामान्य अस्पतालों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में लागू होंगे। झज्जर जिले में तीन सामान्य अस्पताल है। 6 सीएचसी व 22 पीएचसी हैं।

एक्सरे नहीं केवल मिलेगी रिपोर्ट : सरकारी अस्पतालों में पहले जहां मरीज को एक्सरे करवाने के बाद मरीज को एक्सरे दिया जता था। उसे अब बंद कर दिया गया है। एक्सरे रिपोर्ट ऑन लाइन चिकित्सक के पास पहुंच जाएगी। चिकित्सक अपने कंप्यूटर की स्क्रीन पर एक्सरे देख कर मरीज के कार्ड पर रिपोर्ट लिखेंगे। अगर किसी मरीज को एक्सरे चाहिए तो उसे पहले पचास रुपये प्रति एक्सरे शुल्क अदा करना होगा। इससे एक्सरे की फिल्म पर होने वाला खर्च भी सरकार को बचेगा।