News Description
रेलवे में नौकरी के नाम पर गोरखधंधा, थमाया फर्जी ट्रेनिंग व नियुक्त पत्र

     रेलवे में नौकरी के नाम पर फर्जीवाड़ा और ठगी का सनीसनीखेज मामला सामने आया है। एक युवक से कुछ लोगों ने रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर पांच लाख रुपये ठग लिये। उन्‍होंने युवक को नियुक्ति पत्र भी दे दिया और छह महीने की ट्रेनिंग भी दिला दी। ले‍किन, बाद में पता चला कि सब कुछ फर्जी है। अब उसने पुलिस में शिकायत दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है और आरोपियों की तलाश कर रही है।

     कुरुक्षेत्र के गांव दामली शाहबाद निवासी युवक से रोहतक के कुछ लोगों ने रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर पांच लाख रुपये की ठगी कर ली। अभियुक्तों ने पीडि़त युवक को अपने जाल में फंसाने के लिए उसकी फर्जी ट्रेनिंग भी करा दी। फर्जीवाड़े का पता चलने पर पीडि़त ने अपने पैसे वापस मांगे तो अभियुक्तों ने पहले मना कर दिया और फिर दो चेक थमा दिए। दोनों चेक बाउंस हो गए। मामले की शिकायत आइजी को देने के बाद आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया।

    पीडि़त का कहना है कि ज्वाइनिंग लेटर आते ही अभियुक्तों ने साढ़े चार लाख रुपये भी ले लिए थे। मामले का पता चलने पर उसने आरोपियों से दिए गए पांच लाख रुपये वापस मांगे। पहले तो उन्‍होंने इससे इन्‍कार कर‍ दिया, लेकिन बाद में दबाव बनाने पर उन्‍होंने उसे दो चेक दिए। इन चेक को खाते में लगाया तो वे बाउंस हो गए। इसके बाद उसने रोहतक के आइजी को इस मामले की शिकायत दी।