News Description
शू बॉक्स जोड़कर बनाया रूम को स्टूडियो, सिंगिंग टैलेंट से मिलती है स्कॉलरशिप

सिंगिंग का टेलेंट बहुत लाेगों में होता है मगर एक गाने काे निकालने काॅस्ट यानि स्टूडियो की कास्ट में ही यह टेलेंट कई बार सबके सामने अाने से रह जाता है । मगर वही शहर के मॉडलटाउन में रहने वाले आकाशदीप ने अपने आगे आ रही स्टूडियो कॉस्ट की प्राब्लम को देखते हुए घर पर ही खुद का स्टूडियो बना लिया।
 
दरअसल आकाश ने अपने सिंगिंग टेलेंट के चलते धीरे-धीरे सभी म्यूजिक इंस्ट्यूमेंट को तो इकट्ठा कर लिया मगर उसे अपने गाने के प्रोडक्शन के लिए स्टूडियो की जरूरत सामने आने लगी। अपनी क्रिएटिविटी का यूज कर घर पर पडे़ शू बाक्स को इक्ट्ठा किया और कम पड़ने पर स्पेशल मार्केट से खरीदे और सभी को अपने कमरे में सेट किया। गौरतलब है कि इससे कमरे में इको क्रिएट नहीं होती क्योंकि शू बाक्स साउंड को ऑब्जर्व करता है और बाहर नहीं फेंकता। अब उनके कमरे में हर तरह के माइक से लेकर मिड कीबॉर्ड तक है। आकाशदीप अपने कमरे में ही गाने रिकॉर्ड कर यू ट्यूब पर डालते हैं।
 
सिंगिंग टैलेंट पर स्कूल से मिलती है स्कॉलरशिप:
आकाशदीप सारेगामापा के लिटिलचैम 2015 के टॉप 30 रनरअप रहे हैं। वह 11वीं क्लास में हैं मगर वह टैंथ से ही सेंट जोसेफ स्कूल से फ्री स्कॉलरशिप में पढ़ते हैं। आकाश ने अपना यू ट्यू्ब पेज भी बना रखा है जिस पर वह समय-समय पर गाने भी डालते रहते हैं