News Description
गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन सिटी बस लिमिटेड चलाएगी 500 बसें

 गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन शहर में सिटी बस लिमिटेड 500 सिटी बसों का संचालन करेगी। इसके लिए बुधवार को चंडीगढ़ में मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन (एमओए) और आर्टिकल्स ऑफ एसोसिएशन (एओए) पर हस्ताक्षर के बाद कंपनी का गठन किया गया। इस प्रोजेक्ट में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी जीएमडीए यानी गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी, 40 प्रतिशत नगर निगम और 10 फीसद हिस्सेदारी एचएसआइआइडीसी की रहेगी। एक माह बाद रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल इश्यू करवाया जाएगा।

जीएमडीए के अधिकारियों के मुताबिक फरवरी-मार्च 2018 से शहर में सिटी बसें दौड़ने लगेंगी। खास बात यह है कि इस कंपनी के लिए सीईओ की नियुक्ति भी की जाएगी और जीएमडीए के सीईओ इस कंपनी के चेयरमैन होंगे। कलस्टर बसों की तर्ज पर ही शहर में बसें चलेंगी। प्राइवेट कंपनियों से बसें चलाने के लिए आवेदन मांगे जाएंगे। एक कंपनी से कम से कम 100 बसें चलवाई जाएंगी।

सड़कों से घट जाएगा ट्रैफिक लोड

शहर के आंतरिक रूटों पर सिटी बसें नहीं चलने के कारण शहर में प्राइवेट व्हीकल और कैब व ऑटो से यात्री सफर करते हैं। शहर में रोजाना नौकरीपेशा लोग भी अपने कार्यालयों तक पहुंचने के लिए सफर करते हैं लेकिन बसें नहीं होने के कारण यात्रियों को काफी परेशानी हो रही है। इसके अलावा ऑटो ज्यादा होने के कारण सड़कों पर रोजाना जाम की स्थिति रहती है। पुराने डीजल ऑटो के कारण प्रदूषण भी फैल रहा है। रोडवेज की बसों की संख्या भी सिर्फ 50 है और इनमें से भी ज्यादातर खराब रहती हैं। कुल 500 सिटी बसों में से पोलैंड की तर्ज पर 100 इलेक्ट्रिक बस चलाने की भी योजना है।

शहर में 500 सिटी बस चलाने के लिए गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन सिटी बस लिमिटेड का गठन किया गया है। इसके लिए एमओए और एओए किया गया है।