News Description
जय माता दी के नाम से ग्राम संगठन का शुभारंभ, चरखे के माध्यम से शुरू की आजिविका

 दीन दयाल अंतोदय राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा गांव कटकई में जिले का पहला ग्राम संगठन जय माता दी का कार्यालय का शुभारंभ हुआ। इस संगठन ने रुई से धागा बनाने की मशीन (चरखा) के माध्यम से अपनी आजीविका शुरू की है। 

   दीन दयाल अंतोदय राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत बने इस ग्राम संगठन को स्वयं सहायता समूहों का प्राथमिक संगठन भी कहा जाता है। ग्राम संगठन एक पंजीकृत संस्था होती है। स्वयं सहायता समूहों को उनका सामाजिक व आर्थिक विकास करने का यह बेहतर मौका है। ग्राम संगठन के माध्यम से वे अपनी धरेलू जरूरतों को पूरा करते हुए अपनी इच्छाअनुसार स्वरोजगार में प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं। 

  ये उपसमितियां अपने-अपने कार्य की रिपोर्ट ग्राम संगठन के पदाधिकारियों को रिपोर्ट प्रस्तुत करती हैं। ग्राम संगठन की आम सभा की बैठक प्रत्येक तिमाही में होती हेै। वह पदाधिकारियों के कार्यों की समीक्षा और नए कार्यों का अनुमोदन करती हैं। प्रत्येक पाक्षिक में ग्राम संगठन के कार्यकारणी के सदस्यों की बैठक की जायेगी। कार्यकारणी के सदस्य प्रत्येक समूह के प्रधान और सचिव कार्यकारणी के सदस्य होते हैं। अपने-अपने समूह का प्रतिनिधित्व करते हैं। प्रत्येक सदस्य शुल्क जमा करते हैं और स्वयं सहायता समूह की भांती इसमें कार्यकारणी सदस्य आपसी लेन-देन करते हैं।

ग्राम संगठन में स्टार्ट अप फंड दिया जाता है जिसमें ग्राम संगठन कार्यालय के लिए बेसिक इंफ्रास्टकचर दिया जाता है। इसके बाद ग्राम संगठन के बचत खाता में (सामुदायिक निवेश फंड) दिया जाता है। यह शुल्क, सूक्ष्म ऋण वित योजना के आधार पर समूहों को दिया जाता है।