News Description
एजेंटों की मिलीभगत से चलता है कमीशन का खेल

भले ही प्रदेश सरकार तहसील कार्यालय में आनलाइन रजिस्ट्रियां करके भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने का दावा कर रही हो, लेकिन वसीका नवीस एवं एजेंटों की मिलीभगत से अंदरखाते कमीशनखोरी का खेल चलता है। वसीका नवीस एवं प्रॉपर्टी डीलर बाहर ही से¨टग करके रजिस्ट्री की मार्किंग करवा लेते हैं। दो से पांच प्रतिशत के कमीशन पर मोटी राशि वसूली जा रही है।

तहसील कार्यालय में दिनभर 30 से 35 रजिस्ट्रियां होती हैं। ज्यादातर रजिस्ट्रियां आनलाइन की जाती हैं, मगर कुछ से¨टग के जरिये होती हैं। बिना मौके देखे ही एजेंट मार्किंग करवा लेता है। एजेंटों के माध्यम से ही रजिस्ट्री के लिए समय मिलता है। यदि आम आदमी बिना एजेंट के सीधा तहसील कार्यालय में रजिस्ट्री करवाने पहुंचता है तो उस पर तहसील कार्यालय आपत्ति लगाकर फाइल को अटका देता है। एजेंट के बिना तहसील कार्यालय में रजिस्ट्री करवाना टेड़ी खीर है।

मंगलवार को दैनिक जागरण संवाददाता ने तहसील कार्यालय की पड़ताल की तो वहां कार्य सुचारू रूप से चल रहा था। निर्धारित समय के अनुसार ही रजिस्ट्री हो रही थी, मगर बाहर स्थिति कुछ और थी। तहसील परिसर के नजदीक बैठे डाक्यूमेंट राइटर (वसीका नवीस) से¨टग करते हैं, इसके बाद रजिस्ट्री की प्रक्रिया शुरू होती है।

----------------

निर्धारित किए गए हैं कोड वर्ड

रजिस्ट्री करवाने के लिए वसीका नवीसों व प्रॉपर्टी डीलरों ने कोड वर्ड निर्धारित किए हुए हैं। रजिस्ट्री करने वाले कर्मचारी इस कोड वर्ड को आसानी से समझते हैं। मगर रजिस्ट्री करवाने वाला व्यक्ति कुछ समझ नहीं पाता है। जिस समय वसीका नवीस रजिस्ट्री लिखना शुरू करता है, उसी समय एरिया के अनुसार कोड वर्ड शुरू हो जाता है।

---------

दो से पांच प्रतिशत की कमीशन

तहसील कार्यालय में रजिस्ट्री लिखने वाले एक वसीका नवीस ने दाम न छापने की शर्त पर बताया कि दो से पांच प्रतिशत की कमीशन निर्धारित की जाती है। यह कमीशन अलग से ले ली जाती है। रजिस्ट्री होने के बाद कमीशन का हिस्सा निर्धारित मात्रा में कर्मियों तक पहुंचा दिया जाता है।

-------------

बिना मौके देखे ही कर दी जाती है मार्किंग

रजिस्ट्री के खेल में इतना भ्रष्टाचार है कि बिना मौके देखे ही मार्किंग की जा रही है। कोई भी अधिकारी व कर्मी उस स्थान का मौका नहीं देखता है, जिसकी रजिस्ट्री करवानी होती है। केवल एजेंट ही कागजात तैयार करके सीधी मार्किंग करवा देता है। इसके बाद समय मिलता है और फोटो उतरकर रजिस्ट्री की प्रक्रिया पूरी होती है।