# पाक PM के आरोप पर भारत का पलटवार-टेररिस्तान है पाकिस्तान         # मोदी का वाराणसी दौरा आज, 305 करोड़ से बने ट्रेड सेंटर का करेंगे इनॉगरेशन         # समुद्र में बढ़ेगा भारत का दबदबा, पहली स्कॉर्पिन पनडुब्बी तैयार         # रोहिंग्या विवाद के बीच म्यांमार को सैन्य साजो-सामान दे सकता है भारत         # चीन में सोशल मीडिया पर इस्लाम विरोधी शब्दों के प्रयोग पर लगी रोक         # परवेज मुशर्रफ का दावा-बेनजीर की हत्या के लिए उनके पति जरदारी जिम्मेदार          # भारत ने अफगानिस्तान में 116 सामुदायिक विकास परियोजनाओं की ली जिम्मेदारी         # जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी गिरफ्तार, सशस्त्र सीमाबल पर किया था हमला        
News Description
फोटोयुक्त मतदाता सूची को ऑनलाईन करने की प्रक्रिया की जानकारी देने के लिए मंडल स्तरीय कार्यशाला

अम्बाला- भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार फोटोयुक्त मतदाता सूची को ईआरओ नेट के माध्यम से ऑनलाईन करने की प्रक्रिया की जानकारी देने के लिए आज पंचायत भवन अम्बाला शहर में मंडल स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में अम्बाला के साथ-साथ पंचकूला, यमुनानगर, कैथल और कुरूक्षेत्र जिलों के रिर्टनिंग और सहायक रिर्टनिंग अधिकारी तथा निर्वाचन विभाग के अधिकारी शामिल हुए। इस मौके पर भारत निर्वाचन आयोग के विशेषज्ञ एवं इंद्री उपमंडल के एसडीएम अश्वनी मलिक तथा तकनीकी विशेषज्ञ विकास ने प्रतिभागियों को ईआरओ नेट प्रणाली का व्यवहारिक ज्ञान दिया। उन्होंने बताया कि इस प्रणाली से फोटोयुक्त मतदाता सूचियों में दर्ज सभी मतदाताओं की जानकारी ऑनलाईन उपलब्ध होगी। इसके साथ-साथ नये वोट बनाने के लिए प्राप्त होने वाले ऑनलाईन और ऑफ लाईन आवेदनों पर बीएलओ, सहायक रिर्टनिंग अधिकारी, रिर्टनिंग अधिकारी तथा मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा भी उनके अधिकार क्षेत्र की सभी औपचारिकताएं ऑन लाईन पूरी की जायेंगी। उन्होंने कहा कि यह प्रक्रिया आरम्भ होने से किसी भी स्तर पर औपचारिकता में रहने वाली कमी बूथ लेवल से लेकर राज्य मुख्यालय तक सभी सम्बन्धित अधिकारियों के नोटिस में आ जायेगी और उसे तुरंत दुरूस्त भी किया जा सकता है।  मलिक ने बताया कि सभी राज्यों में ईआरओ नेट प्रणाली आरम्भ होने से कहीं पर भी एक मतदाता के बारे में यह जानकारी ऑनलाईन प्राप्त की जा सकती है कि उसका वोट देश के किसी अन्य क्षेत्र में तो नहीं है। इससे ऐसे मतदाताओं पर अंकुश लगेगा जिन्होंने एक से अधिक वोट बनवा रखे हैं और मतदाता सूचियां पूरी तरह त्रुटिरहित होंगी और पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता आयेगी। उन्होंने बताया कि इस प्रणाली के तहत मतदाता का आवेदन स्वीकार होने, किसी त्रुटि पर सम्बन्धित अथोरिटी के सामने सुनवाई के लिए संदेश देने जैसी सभी आवश्यक जानकारियां मतदाता को एसएमएस से प्राप्त होंगी। इसके अलावा वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा की जाने वाली तिथिब( कार्रवाई का मैसेज अधिकारी के मोबाईल पर तथा बूथ लेवल अधिकारी के पास लम्बित कार्य का संदेश बीएलओ के मोबाईल पर एसएमएस से भेजा जायेगा। कार्यशाला में उपस्थित अधिकारियों और कर्मचारियों ने इस नई प्रणाली के बारे में प्रश्न भी पूछे और विशेषज्ञों ने उनके संदेह और जिज्ञासा के उत्तर दिये। कार्यक्रम में कैथल के एडीसी कैप्टन शक्ति सिंह, अम्बाला के एसडीएम सत्येन्द्र सिवाच, नारायणगढ के एसडीएम मोनिका गुप्ता, यमुनानगर की नगराधीश श्रीमती रूचि सिंह, हरियाणा के उप मुख्य चुनाव अधिकारी संत लाल सहित सभी जिलों के सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।