News Description
जीएसटी में ऑनलाइन नहीं हुई तो ऑफलाइन टूल से फाइल की पहली रिटर्न

गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) लागू हुए एक माह हो गया है और जुलाई माह की जीएसटी की रिटर्न फाइल होनी भी शुरू हो गई है। मंगलवार को रेलवे रोड स्थित जूता के एक शोरूम की जीएसटी की पहली रिटर्न फाइल करते समय काफी परेशानी हुई लेकिन बाद में आनलाइन रिटर्न जमा नहीं हुई तो सीए विजेंद्र जिंदल ने आफलाइन टूल डाउनलोड कर देर रात को रिटर्न फाइल कर दी। हालाकि रिटर्न फाइल करते समय काफी परेशानी हुई। इस दौरान उन्होंने जीएसटी से जुड़े अधिकारियों से भी संपर्क साधा और अधिकारियों ने उसे बुधवार को कार्यालय में आने की बात कही और समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया लेकिन कई बार प्रयास करने के बाद आखिरकार आफलाइन रिटर्न फाइल कर दी गई।

:

इस बारे में स्टेट टैक्स के उपायुक्त कुलदीप मलिक ने बताया कि इस मामले में रिटर्न फाइल करते समय कोई न कोई गलती रही होगी। इसी वजह से यह रिटर्न फाइल नहीं हुई है। बाद में आफलाइन रिटर्न फाइल हो गई तो ठीक है। उन्होंने लोगों से आह्वान किया है कि अगर किसी को रिटर्न फाइल करते समय कोई समस्या आती है तो वे उनके कार्यालय में आए, उनकी समस्या का समाधान किया जाएगा

दरअसल, जीएसटी के तहत जुलाई माह की रिटर्न मंगलवार से भरनी शुरू हो गई है। हालाकि पहले दिन कितनी रिटर्न भरी गई ये आकड़ा तो नहीं मिल सका है लेकिन जुलाई माह की रिटर्न 5 सितंबर तक भरी जा सकती है। इसके बाद रिटर्न जमा नहीं होंगी। इसी के चलते पहले ही दिन सीए विजेंद्र जिंदल ने अपने क्लाइट रेलवे रोड स्थित बंसल बूट हाउस की पहली रिटर्न फाइल करने की सोची। सीए विजेंद्र जिंदल ने जीएसटी के पोर्टल पर सारा डाटा फीड कर दिया लेकिन बार-बार फीड करने के बाद भी पोर्टल रिटर्न को असेप्ट ही नहीं कर रहा था। उन्होंने अधिकारियों को फोन किया तो उन्होंने बुधवार को कार्यालय में आने के बाद समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया। इस बीच टोल फ्री नंबर मिलाए तो वे किसी ने रिसीव नहीं किए। आखिरकार थक हारकर सीए विजेंद्र जिंदल ने रात करीब सवा सात बजे कंप्यूटर पर आफलाइन टूल डाउनलोड कर डाटा फीड किया तो रिटर्न असेप्ट हो गई।