News Description
महिलाओं ने पानी के लिए डीसी के जोड़े हाथ , कहा-10 साल से नहीं आ रहा पानी

पिछले दस साल से गांव किरतान में पीने के पानी की किल्लत है। इसको लेकर गांव की महिलाओं ने पंचायत के नेतृत्व में उपायुक्त के सामने हाथ जोड़कर पीने का पानी उपलब्ध करवाने की गुहार लगाई। महिलाएं गांव से मटके लेकर लघु सचिवालय पहुंचीं और उन्हें फोड़कर प्रदर्शन किया। इसके बाद उन्होंने उपायुक्त को ज्ञापन सौंपा। गांव की महिलाओं ने बताया कि पेयजल किल्लत की समस्या से कई बार अधिकारियों को अवगत करवा चुके हैं, लेकिन अधिकारी इस ओर कोई ध्यान नहीं देते। इसके कारण कई बार तो बच्चे स्कूल तक भी नहीं जा पाते।

उन्होंने बताया कि गांव में 2007 में जलघर बना था तो उम्मीद जगी थी कि पीने के पानी की समस्या से निजात मिल जाएगी पर उस समस्या से अब तक जूझ रहे हैं। गांव के सरपंच राजपाल ने कहा कि गांव के जलघर में पानी के दो टैंक बने हुए हैं। लेकिन जलघर से लोगों के घरों तक पानी सप्लाई की लाइन बिना किसी लेवल के बिछाई गई है जिसके कारण घरों में सप्लाई नहीं पहुंच पाती। हालात ये हैं कि गांव की महिलाओं को काफी दूर पैदल चलकर मटकों में पानी लाना पड़ता है। गर्मी के मौसम में पानी लाने के लिए गांव से छह किलोमीटर दूर सीसवाल गांव के जलघर से पानी लाना पड़ता है। उच्चाधिकारियों को बार-बार अवगत करवाने के अलावा भाजपा के जिला महामंत्री सुजीत कुमार से भी मिलने के पश्चात भी कोई समाधान नही हुआ है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द ही समस्या का समाधान नहीं हुआ तो अनिश्चितकालीन धरना दिया जाएगा