News Description
बाल कल्याण परिषद बहादुर बच्चों को राष्ट्रीय अवार्ड से करेगी सम्मानित

भारतीय बाल कल्याण परिषद ऐसे बच्चों को राष्ट्रीय अवार्ड से सम्मानित करेगी जिन्होंने सामाजिक बुराई व जुर्म के खिलाफ आवाज उठाते हुए कोई प्रेरणादायक काम किया हो। इसके लिए आवेदन आगामी 30 सितंबर तक पहुंच जाने चाहिए। 
यह जानकारी देते हुए उपायुक्त राजनारायण कौशिक ने बताया कि इस राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार की शुरूआत 1957 में की गई थी। उसके बाद भारतीय बाल कल्याण परिषद हर वर्ष ऐसे 25 बच्चों को अवार्ड से सम्मानित करता है। इसके लिए आवेदन सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के माध्यम से मंगवाए जाते हैं। 
आवेदन के लिए निर्धारित प्रफोर्मा विभाग की वेबसाइट आईसीसीडब्ल्यू डॉट को टॉन इन पर उपलब्ध है। आवेदन संबंधित स्कूल के प्रिंसिपल, पंचायत के मुखिया तथा जिला परिषद चेयरमैन द्वारा सिफारिश किया होना चाहिए। इसके  अलावा संबंधित उपायुक्त व अन्य इसी रैंक के अधिकारी की सिफारिश के साथ भी आवेदन किया जा सकता है। इनमें से किसी दो की सिफारिश करवाना जरूरी है। उन्होंने बताया कि आवेदन के लिए घटना का समय एक जुलाई 2016 से 30 सितंबर 2017 के बीच को होना चाहिए। एक बार रद्द किया गया आवेदन दोबारा स्वीकार्य नहीं होगा। 
ये अवार्ड चार श्रेणी में होंगे। पहली श्रेणी में भारत अवार्ड होगा जो एक ही होगा, दूसरी में दो अवार्ड होंगे तथा तीसरी श्रेणी में तीन अवार्ड होंगे। इसके अलावा सामान्य श्रेणी में 19 अवार्ड होंगे। इस प्रकार कुल 25 बच्चों को अवार्ड व नकद राशि से सम्मानित किया जाएगा। आवेदन की आयु 6 से 18 वर्ष के बीच होनी चाहिए।