News Description
एडमिशन प्रोसेस में बदलाव,कटऑफ के तहत नहीं मिलेगा एडमिशन

डिप्लोमाइन एजुकेशन के एडमिशन प्रोसेस में शिक्षा विभाग पैटर्न में बदलाव करने जा रहा है। अब इसमें तय सीटों के लिए विभाग और स्टूडेंट्स को ज्यादा जद्दोजहद नहीं करनी पड़ेगी। अब कटऑफ के तहत एडमिशन नहीं मिलेगा। ऑनलाइन काउंसिलिंग में स्टूडेंट को मनचाहे सेंटर को अलॉटमेंट लेटर दिया जाएगा, जिसके बाद वे मनचाहे सेंटर में जाकर फीस भर के एडमिशन पक्का कर पाएंगे। ऐसे में विभाग 2017-18 के एडमिशन काउंसिलिंग को आसान और सरल बना रहा है। 

इसलिएयह सुखद बदलाव : कुछवर्षों से डीएड की सीटें भरने के लिए विभाग को 9 से 10 काउंसिलिंग करनी पड़ती है, जिसके बाद भी सीटें पूरी नहीं भर पाती हैं। जिस कारण केवल विद्यार्थियों बल्कि काॅलेज संचालकों को भी परेशानी होती थी। यह प्रोसेस एग्जाम से 10 दिन पहले तक भी चलता रहता है, ऐसे में काफी विद्यार्थियों का तो समय पर सिलेबस भी कवर नहीं हो पाता था। 

2017-18 में अभी तक 3 काउंसिलिंग के तहत एडमिशन प्रोसेस पूरा किया जा चुका है और चौथी काउंसिलिंग के लिए अनुमति मांगी गई है। अगस्त के पहले हफ्ते में चौथी काउंसिलिंग शुरू कर दी जाएगी। एससीईआरटी से डीएड प्रभारी पूनम भारद्धाज ने बताया कि तीसरी लिस्ट के आधार पर शनिवार तक ही प्रोसेस जारी रहेगा। इसके बाद 2 से 3 दिनों में बची हुई सीटों का डेटा तैयार होगा और चौथी काउंसिलिंग के तहत एडमिशन होंगे। चौथी कटऑफ में ही ज्यादा से ज्यादा स्टूडेंट्स को एडमिशन मिल जाने पर काम होगा।