News Description
आत्माराम धर्मशाला कमेटी की बैठक में नया मैनेजर रखने का फैसला लिया

स्थित पंडित आत्माराम धर्मशाला कमेटी की बैठक सोमवार को अनाज मंडी में प्रधान ऋषिकेश गर्ग की अध्यक्षता में हुई। बैठक में नया प्रबंधक रखने का निर्णय लिया गया। इसी मामले को लेकर पिछले दिनों दो पक्षों में विवाद हो गया था। तब कुछ लोगों ने नई कार्यकारिणी गठित कर दी, जबकि पुरानी कार्यकारिणी के लोगों ने इस पर आपत्ति जताई। अब दोनों ही पक्ष अपनी अपनी कार्यकारिणी को सही ठहरा रहे हैं। पिछले कई दिनों से दोनों पक्षों में आपसी खींचतान चल रही है। मामला प्रबंधक को रखने रखने को लेकर बिगड़ा था। 

येलिए फैसले 

बैठकमें मौजूद प्रधान ऋषिकेश गर्ग, महासचिव ओमप्रकाश धिंगड़ा, कोषाध्यक्ष अमृतपाल, रूप खोखर, बलिंद्र शर्मा, संजय गुप्ता, सतपाल जिंदल, वजीर चंद, बलवंत सिंह, ओमप्रकाश ग्रोवर आदि सदस्यों ने कहा कि कमेटी साल 1988 से चल रही है। कुछ सदस्यों का पिछले दिनों निधन हो गया। उनकी जगह पर तीन नए सदस्य कमेटी में लिए गए हैं। कमेटी ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि धर्मशाला के संचालन रखरखाव को लेकर नया प्रबंधक रखा जाएगा। किसी भी व्यक्ति को धर्मशाला का कमरा या चौबारा गोदाम के लिए नहीं दिया जाएगा। 

यदि किसी के पास धर्मशाला का कमरा या चौबारा गोदाम के लिए है तो उससे तुरंत खाली करवाया जाएगा। लोहे के मुख्य गेट को हटाकर वहां पर कैंची गेट लगवाया जाएगा। साथ में छत पर एसी कमरों का निर्माण करवाया जाएगा। बैठक के दौरान पूर्व पार्षद रूप खोखर, बलिंद्र शर्मा संजय गुप्ता को कार्यकारिणी में शामिल किया गया। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों प्रबंधक गौरव शर्मा को हटाने को लेकर कुछ लोगों ने आपत्ति जताई थी। 

तब नया प्रधान बनाया गया था, जबकि पुरानी कमेटी के लोगों ने उक्त लोगों पर बैठक में जबरदस्ती घुसकर कमेटी गठित करने का आरोप लगाया था। एक पक्ष गौरव शर्मा के प्रबंधन से खुश नहीं है, जबकि दूसरे पक्ष के लोग गौरव शर्मा को धर्मशाला में प्रबंधक के तौर पर रखना चाहते हैं। इसी को लेकर दोनों पक्षों में विवाद चल रहा है। साल 1988 में भी ऐसे ही विवाद हो गया था। तब नई कार्यकारिणी गठित की गई थी।