News Description
सूक्ष्म ¨सचाई योजना से अ¨सचित क्षेत्र में पहुंचेगी जलधारा

सूक्ष्म ¨सचाई योजना से अ¨सचित क्षेत्र में जलधारा पहुंचेगी और डार्क जोन में पानी की उपलब्धता बढ़ेगी। प्रदेश के 36 ब्लाकों पर ¨सचाई योजना की शुरुआत की जाएगी। पिहोवा के गुमथला गढू गांव के डेरा फतेह ¨सह में बनाए गए देश के पहले सूक्ष्म ¨सचाई योजना पायलट प्रोजेक्ट से 150 एकड़ पर भूमि पर ¨सचाई होगी। योजना के तहत बिजली का उत्पादन भी किया जाएगा। सौर ऊर्जा और ग्रिड के माध्यम से ऊर्जा का आदान-प्रदान किया जाएगा तथा इसे हॉटलाइन के जरिये 11केवी लाइन से विद्युतीय ग्रिड सेंटर से जोड़ा जाएगा। चार एकड़ पर एक ग्रिड भी स्थापित किया जाएगा।

रविवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बटन दबाकर इसकी प्रोजेक्ट की शुरुआत की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में गिरते भू-जलस्तर को रोकने, पानी को बचाने के उद्देश्य से सूक्ष्म ¨सचाई प्रोजेक्ट लगाने पर राज्य सरकार की तरफ से 85 प्रतिशत सबसिडी मुहैया करवाई जाएगी। इसलिए किसान इस योजना का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाएं। किसान परंपरागत खेती को छोड़कर फसल विविधिकरण को अपनाएं। इससे किसानों की आय बढ़ेगी और पानी की भी बचत होगी। इसके लिए विभाग की ओर से किसानों को जागरूक किया जा रहा है।